News Description
शहर में गुरु गो¨बद ¨सह के प्रकाशोत्सव की धूम

फरीदाबाद : सरबंस दानी, साहिबे कमाल और संत व सिपाही के रूप सिख पंथ में दशम पातशाही खालसा के सृजनहार गुरु गो¨बद ¨सह जी का प्रकाशोत्सव सोमवार को शहर में श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाया गया। विशेष आकर्षण एनआइटी नंबर पांच से गुरुद्वारा तोची साहिब से निकला भव्य नगर कीर्तन रहा, तो विभिन्न गुरुद्वारों में शबद कीर्तन समागम हुए और गुरु के लंगर आयोजित हुए।

प्रकाश पर्व पर विभिन्न गुरुद्वारों से प्रभात फेरियां भी निकाली गई। गुरुद्वारों में पिछले तीन दिनों से अखंड पाठ चल रहे थे, जिनका भोग सोमवार की सुबह भव्य आरती व शबद कीर्तन के साथ लगा। इसके बाद गुरुद्वारों में गुरु के लंगर अटूट बरते गए। बड़ी संख्या में ¨हदू-सिख संगत ने शबद कीर्तन में शामिल होकर रब्बी बाणी का श्रवण किया और बाद में लंगर छका। इधर गुरुदारा तोची साहिब से सुबह 11 बजे नगर कीर्तन निकला। नगर कीर्तन को विधायक सीमा त्रिखा व भाटिया सेवक समाज के प्रधान मोहन ¨सह भाटिया, वेद भाटिया ने झंडी दिखा कर रवाना किया। नगर कीर्तन का नेतृत्व गुरु साहिब के पंज प्यारे कर रहे थे। एनआइटी नंबर पांच के प्रमुख बाजार, बादशाह खान चौक, आर्य समाज रोड, एक नंबर बाजार, दो व तीन नंबर से होकर वापस पांच नंबर पहुंचे नगर कीर्तन का विभिन्न स्थानों पर श्रद्धालुओं ने प्रसाद के स्टाल लगा कर स्वागत किया।

नगर कीर्तन में पंज प्यारों के आगे-आगे श्रद्धालु झाड़ू से सफाई करते हुए व पानी का छिड़काव कर साफ करते हुए निकल रहे थे। बैंड बाजे, श्री गुरु ग्रंथ साहिब की पवित्र पालकी के पीछे-पीछे महिला श्रद्धालु सतनाम श्री वाहे गुरु और वाहो-वाहो गो¨बद ¨सह आपे गुरु चेला और अन्य शबद गायन से माहौल को भक्तिमय कर रहे। दस कारों पर सिख पंथ के सभी दस गुरुओं की तस्वीरों वाली झांकी सभी का ध्यान खींच रही थी।

गुरुद्वारा प्रबंध कमेटी के प्रधान नरेंद्र भाटिया, उपाध्यक्ष साहिब ¨सह, चेयरमैन शरण भाटिया, सचिव मदन लाल, सतीश भाटिया, संजय आदि ने श्रद्धालुओं का स्वागत किया। नगर कीर्तन शहर की परिक्रमा करता हुआ वापस देर शाम को गुरुद्वारा परिसर पहुंच कर समाप्त हुआ।