News Description
कांग्रेसी नेता से 47 लाख रुपये की ठगी

 यमुनानगर : कांग्रेस नेता मोहन जयरामपुर से तेलीपुरा गांव के एक परिवार ने दो जमीन बेचने के नाम पर 47 लाख रुपये की ठगी कर दी। पहले पिता ने अपने दोनों बेटों के नाम जमीन कर दी और बाद में बेटों ने अपनी मां के नाम जमीन दिखा दी। पैसे लेने के बाद भी रजिस्टरी मोहन के नाम नहीं की। इस पर उन्होंने पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने पिता, पुत्रों सहित तीनों के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।

जयरामपुर खालसा गांव निवासी मोहन वर्मा ने बताया कि दिसंबर 2015 में खेती के लिए कुछ भूमि खरीदना चाहता था। इस दौरान उसकी मुलाकात तेलीपुरा गांव के रमेश चंद से हो गई। उसने उसे अपनी दो एकड़ भूमि बेचने की बात कही, जिसे खरीदने के लिए वह राजी हो गया। उसको बताया गया कि जमीन पर बैंक लोन है। इस पर मोहन ने सात लाख 69 हजार रुपये केनरा बैंक दादुपर ब्रांच में जमा कर दिए। बाकि की रकम आरजीटी से उनके खाते में भेज दी। पैसे लेने के बाद 23 जून 2017 रजिस्टरी कराने के लिए तय कर दी गई। तय दिन पर वह रजिस्टरी कराने के लिए तहसील में पहुंच गया। उक्त परिवार के लोग वहां नहीं पहुंचे।

घर जाकर जब बात की तो उसको बताया गया कि रमेश ने यह जमीन अपने दोनों बेटे राहूल व मूंज के नाम कर दी। जब वह उनसे मिला तो उनको पता चला कि बेटों ने जमीन अपनी मां शिमला के नाम कर दी। यह पूरा परिवार उन्हें घूमाता रहा। लेकिन जमीन उनके नाम नहीं की। मोहन वर्मा ने बताया कि जमीन पर उसका दो साल से कब्जा है। उस पर दो साल के पेड़ भी खड़े हैं।कई बार चक्कर लगाने के बाद भी रजिस्टरी उसके नाम नहीं की तो उसने पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने उसकी शिकायत पर कार्रवाई करते हुए धोखाधड़ी के आरोप में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

जांच अधिकारी एएसआइ राजकुमार का कहना है कि मोहन की शिकायत पर धोखाधड़ी के आरोप में मामला दर्ज किया है। मामले में जांच चल रही है। जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी। वहीं आरोपी पक्ष का कहना है कि वे किसी भी जांच के लिए तैयार है। पुलिस ने प्रभाव में केस दर्ज किया है।