News Description
12 लाख के पैचवर्क के बावजूद हुडा सेक्टर की सड़कें टूटी

जगाधरी : नगर निगम के अधिकारियों ने 12 लाख रुपये पैचवर्क के नाम पर खर्च कर दिए। गंभीर बात यह है कि इतनी मोटी रकम खर्च होने के बाद भी सेक्टर की सड़कों का सुधार नहीं हुआ। स्थानीय लोगों का कहना है कि सेक्टर की सड़क नई बननी चाहिए थी, मगर अधिकारियों ने अपनी मनमानी दिखते हुए पैचवर्क पर 12 लाख रुपये का नुकसान कर दिया। टूटी सड़क से शहरवासी परेशान हैं। उन्होंने इस मामले की जांच की मांग की है। वहीं एसडीएम जगाधरी भारत भूषण का कहना है कि यदि ऐसा मामला है तो यह गंभीर बात है। इस मामले की निश्चित तौर पर जांच करवाई जाएंगी। जिसकी भी लापरवाही सामने आएगी। उस पर कड़ी कार्रवाई होगी।

स्थानीय लोगों का कहना है कि लंबे समय से सड़क बनाने की मांग कर रहे थे। टूटी सड़क के कारण हर कोई परेशान था। पहले सेक्टर में काम हुडा के अधिकारी करवाते थे। कुछ दिन पहले सरकार ने सेक्टर नगर निगम के अधीन कर दिया। निगम ने सड़क में पैचवर्क का कार्य करवाने के लिए दो दफा टेंडर किए। एक टेंडर में सात लाख और दूसरे में पांच लाख रुपये खर्च किया गया।

मकान नंबर 320 के सामने सड़क में गहरे गड्ढे है। इसी तरह से मकान नंबर 364,385, 361 के सामने व हाउस¨सग बोर्ड एरिया में भी सड़क की बुरा हालत है। दो साल से टूटी सड़क से स्थानीय लोग परेशान है।

सेक्टर 18 के प्रधान कपिल कांबोज का कहना है कि सेक्टर की सड़क टूटी पड़ी है। दो साल से अधिकारियों के चक्कर काट रहे है। अब नगर निगमके और से सड़कों को ठीक करने का काम किया गया। इस पर लाखों रुपये खर्च कर दिए।अच्छा तो यह होता कि अधिकारियों को सेक्टर में नई सड़क का निर्माण करवाना चाहिए था। पैचवर्क का काम ठीक नहीं किया गया।