# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
ग्रामीणों ने ट्रैक्टर-ट्रॉली का घेरा बना पकड़े पशु

रोहतक : गोहाना रोड पर पुल के पास करीब दस गांव के लोगों ने खाली पड़े प्लाट पर गोवंश को इकट्ठा किया। फिर, उन्हें ले जाने के लिए नगर निगम को फोन किया। फिर, नगर निगम के अधिकारी ने गोवंश पकड़ने वाले वाहन और लोगों को भेज कर गोवंश को पकड़वाया।

इन गोवंशों को नगर निगम की पहरावर स्थित गोशाला में रखवाया गया है। वहीं, अधिकारी का कहना है कि अब फसलें जब बड़ी होने लगी हैं तो गांव वाले अपने पशुओं को हांक कर शहर में भेज देते हैं जबकि नगर निगम के पास गोशाला में गोवंशों को रखने की जगह नहीं है। इसमें 2000 की क्षमता वाली गोशाला में 2700 गोवंश को रखा जा रहा है।

ग्रामीण अमित ने बताया कि सांड ने उनकी फसलों को बर्बाद कर के रख दिया है। इससे काफी नुकसान हो रहा है। इसके लिए चमारिया, मकड़ौली और आस-पास के अन्य गांव के लोगों ने गोहाना रोड पर पुल के पास एक खाली पड़े प्लॉट पर ट्रैक्टर और ट्रालियों का घेरा बनाया। फिर, आस-पास के गांव में घूम रहे लावारिस पशुओं और सांड को पकड़ा गया। सभी पशुओं को पकड़ कर इस घेरे में रोक दिया गया। फिर, नगर निगम के अधिकारियों को फोन कर इन गोवंशों और सांड को ले जाने के लिए कहा गया। इस घेरे में ग्रामीणों ने 60 से अधिक गायों और सांडों को पकड़ कर रखा था।

उन्होंने बताया कि आए दिन पशुओं के खेत में घूमने के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ये सारे पशु गेहूं की फसल को खराब कर दे रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि अगर नगर निगम के कर्मी अपने इन पशुओं को पकड़ कर गोशाला में रखेंगे तो ये समस्या नहीं आएगी। फिर, नगर निगम के अधिकारियों ने गाड़ियां भेज कर करीब 23 सांड को वहां से उठवाया और निगम की गोशाला में छुड़वाया।