# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
सम्मेलन में उठा शिक्षकों की समस्याओं का मुद्दा

रेवाड़ी : निजी शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों के साथ होने वाले शोषण को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से शिक्षक सम्मेलन का आयोजन किया गया। आप कार्यकर्ता संजय शर्मा के नेतृत्व में आयोजित कार्यक्रम में शिक्षकों की समस्याओं पर विचार विमर्श किया गया।

सम्मेलन को संबोधित करते हुए आप कार्यकर्ता संजय शर्मा ने कहा कि आज भी विकसित देशों में शिक्षकों को सम्मान की नजर से देखा जाता है लेकिन भारत में निजी शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों का सम्मान करने के बजाय उनका शोषण किया जाता है। सम्मेलन में उपस्थित कुछ प्राध्यापकों ने बताया कि प्रतिवर्ष उनके साथ अनुबंध किया जाता है जबकि अनुबंध तो सड़क व भवन बनाने के लिए किया जाता है। शिक्षण संस्थानों पर अनुबंध प्रणाली समाप्त होनी चाहिए। अनुबंध से देश के बच्चों का भविष्य नहीं बनाया जा सकता। उन्होंने बताया कि सम्मेलन में मुख्य रूप से प्रोविडेंट फंड और इएसआई सुविधा नहीं मिलना, बारह महीनों का पूरा वेतन नहीं देना जबकि बच्चों से पूरे वर्ष की फीस और फंड ली जाती है, कागजों में अधिक वेतन पर हस्ताक्षर करवाकर वास्तव में कम वेतन देना, बिना किसी कारण बताए नौकरी से निकाल देना, नौकरी सुरक्षित नहीं होना, राजपत्रित व नियमित अवकाश नहीं दिया जाना, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों स्कूल चालक, परिचालक, सफाई कर्मचारियों का वेतन नहीं बढ़ाना, प्राइवेट पब्लिशर्स की महंगी किताबों को प्राथमिकता देना आदि मुद्दों पर विचार विमर्श किया गया।

सम्मेलन के दौरान प्रस्ताव पारित कर डॉ. कुमार विश्वास को आप की ओर से राज्यसभा चुनाव में दिल्ली की ओर से भेजने की मांग की। कार्यकर्ताओं का कहना था कि डॉ. कुमार विश्वास ¨हदी साहित्यकार व एक शिक्षक भी हैं। उनके अनुभव और कार्यशैली का लाभ मिलेगा। सम्मेलन की ओर से दिल्ली के मुख्यमंत्री अर¨वद केजरीवाल से उनकी मांग पूरा करने में सहयोग करने की अपील की गई। सम्मेलन को मुकेश, कुशल कटोच, वीरेंद्र आर्य, कमलकांत, किशन शास्त्री, रामौतार जाटव, रघुवीर बेबरवाल, अंजु यादव, कुसुम, स्नेह सहित पार्टी नेता, कार्यकर्ता और काफी संख्या में शिक्षक उपस्थित थे