News Description
वोट कटने के बाद विज के पास पहुंचे दुधला मंडी के लोग

अंबाला : सुप्रीम कोर्ट के आदेशों पर कैंटोनमेंट बोर्ड की ओर से छावनी के सेनाक्षेत्र स्थित दुधला मंडली, तोपखाना परेड, रसाला बाजार, गुलाब मंडी के करीब 62 सौ लोगों का वोटर लिस्ट से नाम काटने का मामला शांत होता नजर नहीं आ रहा है। सोमवार को एक ओर जहां काफी संख्या में लोगों ने बोर्ड के मौजूदा व पूर्व पार्षदों के साथ मिलकर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के पास गुहार लगाई। वहीं एक अन्य पार्षद ने इन लोगों की मदद के लिए सुप्रीम कोर्ट की डबल बेंच के पास याचिका दायर करने के लिए पूरी तैयारी कर ली है। विज ने इन लोगों को आश्वासन दिया है कि वह इस मामले में जल्द ही सरकार के सामने उनका पक्ष रखेंगे।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में चल रहे एक मामले में कुछ समय पूर्व फैसला सुनाया गया था कि कैंटोनमेंट बोर्ड या सेना की जिन जमीनों पर लोगों ने अवैध कब्जा किया हुआ है वहां से यह अवैध कब्जे हटवाए जाएं। सेना या कैंटोनमेंट बोर्ड के अधिकारी इस फैसले को लागू नहीं करवा पाए थे। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अवैध कब्जा करने वाले लोगों की वोट काटने के लिए फैसला सुनाया था जिसे बोर्ड अधिकारियों ने पूरा करवाते हुए अंबाला में करीब 6200 लोगों के नाम वोटर लिस्ट से काट दिए थे। लोगों ने सोमवार को विज के पास गुहार लगाते हुए कहा कि अगर उनके नाम बोर्ड ने वोटर लिस्ट में नहीं जोड़ा तो वह चुनावों में वोट नहीं डाल सकेंगे।