News Description
बस अड्डा में अव्यवस्था देख भड़क गए मुख्यमंत्री

कुरुक्षेत्र प्रवास के दूसरे दिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल एक्शन मोड में नजर आए। पत्रकारवार्ता समाप्त होते ही सीधे पिपली हाइवे बस अड्डे पर पहुंच गए। अड्डे के अंदर फैली अव्यवस्थाएं देख कर मुख्यमंत्री भड़क गए। उन्होंने राज्य परिवहन के महाप्रबंधक आरके गोयल को इन अव्यवस्थाओं के लिए फटकार लगाई और कहा कि 10 दिन के अंदर सभी समस्याएं दूर होनी चाहिए।

पैराकीट मॉटल में सुबह भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक और पत्रकार वार्ता में उठे मुद्दों पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल सीधे उन स्थानों पर पहुंच गए जो जनता दरबार में शिकायतें आई थीं। सबसे पहले बस पर शुलभ शौचालय के बाहर फैली गंदगी को देख कर दंग रह गए। उन्होंने महाप्रबंधक की ओर इशारा करते हुए कहा कि बाहर ऐसा हाल है, तो अंदर का क्या हाल होगा। बस स्टैंड खामियां देखकर उन्होंने अधिकारियों से कहा कि बस यात्रियों को सरकार की हिदायतों के अनुसार सुविधा मुहैया होनी चाहिए। जब उन्होंने बस अड्डे के पिछले हिस्से का मुआयना किया तो वहां जंगल का रूप ले चुके पेड़-पौधों को देखकर भड़क गए। इस पर जीएम ने अपना बचाव करते हुए कहा कि सीएम साहब मैंने कुछ दिन पहले ही कार्यभाल संभाला है। मुख्यमंत्री ने जीएम को कहा कि क्या बस स्टैंड पर इसी तरह की सुविधाएं होती हैं। जीएम से मुख्यमंत्री ने पूछा कि क्या जंगल के पीछे बस स्टैंड की दीवार है, तो वे इसका भी उत्तर नहीं दे पाए। दैनिक जागरण प्रतिनिधि ने जब उनके सामने बस स्टैंड के अंदर बसें न आने का मुद्दा उठाया तो इस पर मुख्यमंत्री ने जीएम को आदेश दिए कि कोई भी बस स्टैंड के बाहर खड़ी नहीं होनी चाहिए। बसों के ऊपर नजर रखने के लिए उन्होंने एक अतिरिक्त निरीक्षक लगाने के भी आदेश दिए। अगर इसके बावजूद भी बसें अड्डे के बाहर रुकेंगी, तो अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने निर्देश दिए कि राज्य परिवहन की सभी बसें बस स्टैंड के अंदर जाएंगी। अगर ऐसा करने में कोई चालक लापरवाही बरतेगा, तो उसके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। मु यमंत्री ने आधुनिक बस स्टैंड बनने वाले स्थल का दौरा किया और जीएम को शीघ्र इसके निर्माण करने के निर्देश दिए।