# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
फौजी की ड्रेस पहने 5 साल के बेटे युवराजपिता को मुखाग्नि दी

करनाल.पाक की फायरिंग में शहीद हुए करनाल के जवान परगट सिंह का पार्थिव शरीर रविवार शाम 6:30 बजे उनके पैतृक गांव रंबा पहुंचा। यहां राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। फौजी की ड्रेस पहने 5 साल के बेटे युवराज ने शहीद पिता को मुखाग्नि दी। शहीद की मां सुखविंद्र कौर ने कहा कि इसी दिन के डर के कारण वह बेटे को फौज में भर्ती होने से रोकती रही। लेकिन देश सेवा के प्रति बेटे की जिद्द के सामने वे कुछ नहीं कर पाए। क्या पता था कि देश सेवा से उसकी डेड बॉडी ही पहुंचेगी।रंबा गांव में शहीद प्रगट सिंह की उम्र 30 साल है और उसका पांच साल का बेटा दिवराज है। बच्चा पिता की शहादत को समझ नहीं पा रहा है। लेकिन शहीद प्रगट सिंह की पत्नी रमनदीप कौर सिसकियां लेकर राे रही है।

- शहीद को याद करके उसके मां-पिता, दादा-दादी और पत्नी का बुरा हाल है। रिश्तेदार से लेकर गांव के लोग उनका ढांढ़स बंधाने में लगे हैं, लेकिन प्रगट सिंह की पल-पल की यादों से उनके आंसू नहीं रुक रहे हैं।


पिता बोले- जवान मर रहे हैं और सरकार मौन
- पिता रतन सिंह ने बताया कि जवान मर रहे हैं और सरकार मौन है। पाकिस्तान को एक बार पावर दिखानी चाहिए।

- पांच साल के बच्चे को छोड़कर हमारा बेटा शहीद हो गया। हम सरकार से मांग करते हैं कि आगे से कोई अौर शहीद न हो, इसके लिए पाकिस्तान को सबक सिखाना चाहिए।