News Description
किसी के गले से उतवाएं ताबीज तो किसी के कानों से उतरे झ़ुमके

 झज्जर : सजधज कर एचटेट की परीक्षा देने के लिए पहुंची महिलाओं के गले से ताबीज तो किसी के कानों से झुमके भी उतरवाए गए। क्योंकि महिलाओं को ही नहीं किसी भी परीक्षार्थी को केवल परीक्षा से जुड़े कागजात के अलावा परीक्षा केंद्र में कुछ भी ले जाने की इजाजत नहीं थी। एचटेट की परीक्षा के लिए पुलिस व प्रशासन की तरफ से पुख्ता प्रबंध किए गए थे। सुरक्षा व्यवस्था इस कदर कड़ी की गई थी कि परीक्षार्थियों की शाल, बैल्ट, ताबीज, कंघा, पर्स, बैग, अंगूठी, कानों की बालियां, झुमके, कड़े, चूड़ियां, चैन, पैंडल, नाक की बालियां, चूड़े, बालों की पिन, कलेक्चर, हाथों पर बंधे धागे, पैरों की पायल व चुटकी तक परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पहले ही उतरवा ली गई थी। परीक्षा केंद्रों के गेट पर ही पुलिस की तरफ से कपड़ा बंद केबिन बनाए हुए थे। महिलाओं व पुरूष वर्ग के परीक्षार्थियों की तलाशी के लिए अलग-अलग केबिन बनाए गए थे। जांच के बाद ही पुलिस की तरफ से परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र के अंदर प्रवेश करने दिया जा रहा था। परीक्षार्थियों के साथ आए उनके परिजनों ने महिलाओं के आभूषणों को उतारने में मदद की वहीं महिला पुलिस कर्मी भी उनकी मदद करती नजर आई। सुरक्षा के मद्देनजर परीक्षार्थियों को केवल कागज के नोट ले जाने की इजाजत दी गई थी। जबकि सिक्के भी बाहर ही रखवाए जा रहे थे।

----

बड़ी संख्या में पुलिस बल किया गया था तैनात : जिला के सभी परीक्षा केंद्रों व उनके आस पास के क्षेत्र में पुलिस की तरफ से नाके बंदी की गई थी। वहीं पुलिस की पीसीआर व राइडर भी गश्त करती रही। इतना ही नहीं परीक्षा केंद्रों को पूरी तरह से सील किया गया था। ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों के अलावा किसी भी व्यक्ति को परीक्षा केंद्रों में जाने की अनुमति नहीं थी। ठीक दो बजे परीक्षा केंद्रों के गेट बंद कर दिए गए थे। उससे पहले पुलिस की तरफ से घोषणा की गई कि कोई भी परीक्षार्थी बाहर है तो वह अंदर आ जाए अन्यथा बाद में उसे प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। हालांकि कुछ समय बाद तक लेट आने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र प्रभारी की अनुमति से प्रवेश करने दिया जा रहा था।

-----

बायोमैट्रीक मशीन से ली गई हाजिरी : परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने वाले परीक्षार्थियों की जांच करने के बाद रोल नंबर की जांच की गई और उसके बाद बायोमैट्रीक मशीन से उनकी हाजिरी ली गई। बायोमैट्रीक मशीन पर परीक्षार्थी का रोल नंबर डालने पर उसकी पूरी डिटेल सामने आ रही थी। उसकी जांच होने के बाद ¨फगरप्रींट लिए गए। हालांकि जैंमर चालू होने के बाद बायोमैट्रीक मशीन बंद हो गई तो उसके बाद टैब से लेट आने वाले परीक्षार्थियों की हाजिरी ली गई।

-----

बच्चों को लेकर परीक्षा केंद्रों के बाहर बैठे रहे परिजन : एचटेट की परीक्षा के दौरान जिन महिलाओं के बच्चे छोटे थे। वे महिलाएं बच्चो को रखने के लिए अपने परिजनों को साथ लेकर आई हुई थी। महिलाएं परीक्षा केंद्र में परीक्षा दे रही थी तो परिजन छोटे बच्चों को परीक्षा केंद्रों के बाहर बैठकर उनकी देख रेख कर रहे थे। किसी के साथ पति तो किसी के साथ सास, सुसर या मां बाप आए हुए थे।