News Description
सार्वजनिक शौचालय में लटके ताले, आमजन परेशान

झज्जर : शहर के व्यस्तम चौक में शुमार छिक्कारा चौक स्थित सार्वजनिक शौचालय पर इन दिनों ताले लटके हैं व गेट पर लगा बिजली का मीटर भी नदारद है।यहां स्थित पुरुष व महिला दोनों ही शौचालय पर ऐसी कोई व्यवस्था नजर नही आती, जिससे इन्हें सुलभ शौचालय कहा जा सके। नगर पालिका ने आमजन व राहगीरों की सुविधा के लिए इन शौचालयों पर अच्छी-खासी राशि खर्च कर इनका निमार्ण करवाया था, ताकि जरूरत पड़ने पर इनका प्रयोग किया जा सके। लेकिन रख रखाव के अभाव में इनकी हालत दयनीय होती गई व अंत में विभाग द्वारा ताला लगाकर इनको बंद कर दिया गया। हालात यह है कि आरक्षण आंदोलन के दौरान क्षतिग्रस्त किए गए बिजली के मीटर को भी आज तक दोबारा नहीं लगाया गया है। आसपास के दुकानदारों का कहना है कि नगर पालिका के कर्मचारी कभी कभार ही इनकी साफ सफाई के लिए आते थे और कभी कभार आते भी थे तो महज औपचारिकता निभाकर चले जाते थे। रेहड़ी पर फल बेचने वाले रामचंद्र ने बताया कि अब तो कई दिनों से इन शौचालयों पर ताला ही लटका हुआ है जोकि नगर पालिका कर्मचारियों द्वारा ही लगाया गया है। बता दें कि छिक्कारा चौक शहर का अति व्यस्तम चौक है जहां पर हजारों यात्रियों का अवागमन लगा रहता है। इन हालातों में शहर को स्वच्छ बनाए रखना दूर की कोड़ी नजर आता है। शहर में लगाए गए मोबाइल टॉयलेटों का भी कमोबेश यही हाल नजर आता है। जिनके रख-रखाव को लेकर भी नगर पालिका पर सवाल उठते रहे हैं। सबसे बड़ा प्रश्न यह है कि जब विभाग के पास इनकी साफ-सफाई के लिए पर्याप्त कर्मचारी ही नहीं थे तो इनके निमार्ण पर लाखों रुपये क्यों खर्च किए गए। जिसका बोझ अंतत: आम जनता पर ही पड़ता है व लोगों को जो परेशानी उठानी पड़ती है वह अलग।

--------------

सार्वजनिक शौचालय में निमार्ण कार्य चल रहा है व पानी की व्यवस्था को भी बहाल किया जा रहा है। जिस कारण इन पर ताला लगाया गया है। निर्माण कार्य पूरा होते ही ताला खोल दिया जाएगा।