News Description
रंगदारी न देने पर दो दुकानदारों पर गोली चलाकर भागे बदमाश

रेवाड़ी : मोटरसाइकिल पर सवार दो बदमाशों ने रविवार शाम को रंगदारी नहीं देने पर अलग-अलग स्थान पर दो दुकानदारों पर गोली चला दी। पहली वारदात को जहां गुर्जरवाड़ा चौक पर अंजाम दिया गया, वहीं दूसरी वारदात आजाद चौक पर की गई।

गनीमत यह रही कि दोनों ही दुकानदारों को गोली नहीं लग पाई। बदमाशों ने गुर्जरवाड़ा चौक पर जहां दुकानदार को पिस्टल के बट मारकर घायल कर दिया, वहीं आजाद चौक पर दुकानदार के बेटे पर चाकू से हमला बोल दिया। बदमाश अपनी मोटरसाइकिल को आजाद चौक पर ही छोड़कर फरार हो गए। महज दस मिनट के भीतर दो जगहों पर वारदात होने से शहर में दहशत फैल गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने बदमाशों की मोटरसाइकिल को कब्जे में लेकर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

मोहल्ला वैद्यवाड़ा के रहने वाले जितेंद्र गुप्ता ने गुर्जरवाड़ा चौक पर परचून की दुकान की हुई है। जितेंद्र रविवार शाम सात बजे के लगभग दुकान बढ़ाने की तैयारी में था। इसी दौरान अपाचे मोटरसाइकिल पर सवार राजेश व जॉनी नामक दो युवक उसकी दुकान पर पहुंचे। दोनों युवक मोहल्ले के ही रहने वाले बताए जा रहे हैं। युवकों ने जितेंद्र से रुपये मांगे। जितेंद्र ने रुपये देने से मना कर दिया तो बदमाशों ने गोली चला दी। जितेंद्र गोली से बच गया तो बदमाशों ने पिस्टल के बट से उसके सिर पर कई वार किए और उसे लहुलुहान हालत में छोड़कर फरार हो गए। घायल जितेंद्र को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

आनंद नगर निवासी प्रदीप उर्फ छोटू ने आजाद चौक पर चिकन सूप व अंडे का काम किया हुआ है। गुर्जरवाड़ा चौक पर वारदात को अंजाम देने के बाद राजेश व जॉनी आजाद चौक पर प्रदीप के पास पहुंचे। बदमाशों ने यहां प्रदीप से भी रुपये मांगे। प्रदीप के रुपये नहीं देने की बात कही तो बदमाशों ने पिस्टल निकालकर उस पर फायर कर दिया। खुशकिस्मती से प्रदीप गोली से बच गया। इसी दौरान उसका बेटा ईशांत आ गया। ईशांत ने डंडे से बदमाशों पर वार किया तो उन्होंने उसके हाथ पर चाकू से हमला कर दिया और मोटरसाइकिल को मौके पर ही छोड़कर फरार हो गए। ईशांत को भी ट्रामा सेंटर में ले जाया गया