News Description
प्रो कुश्ती लीग (पीडब्ल्यूएल) के तीसरे संस्करण में जितेंद्र पहलवान

गुरुग्राम: गांव गाढौली में शराब पीने के दौरान छह दोस्तों का आपस में झगड़ा जाति सूचक शब्द का प्रयोग करने पर हुआ था। शब्द का प्रयोग करने पर एक युवक ने विरोध किया। साथ एक अन्य युवक ने दिया। फिर चार ने मिलकर दोनों को पहले कुल्हाड़ी से काटा। फिर पेट्रोल डालकर आग लगाई। बाद में कुछ दूरी पर ले जाकर गड्ढा खोदकर उसमेंदबा दिया। दो आरोपियों से पूछताछ में यह बात सामने आई है। हत्या में प्रयोग डंडे, कुल्हाड़ी से लेकर कस्सी तक बरामद हो चुके हैं। चार आरोपियों में से एक नाबालिग है। वह पहले डकैती के मामले में गिरफ्तार हो चुका है। जमानत पर बाहर था। दोनों शव पुलिस ने शनिवार देर शाम की गड्ढे से निकाल लिया था। रविवार को पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिए गए।

बृहस्पतिवार रात गांव गाढौली में एसईजेड ( स्पेशल इकोनॉमिक जोन) के लिए अधिगृहीत जमीन से सटे एक क्वार्टर में राजेंद्रा पार्क निवासी रमेश उर्फ मोनू, झज्जर जिले के गांव दुबलधन निवासी गौतम उर्फ भोलू, गांव गाढ़ौली निवासी राहुल, रोहित, विनय एवं एक अन्य नाबालिक शराब पी रहे थे। उसी दौरान गौतम ने राहुल को जाति सूचक शब्द का प्रयोग करते हुए गाली दी। इस पर झगड़ा शुरू हो गया। इसके बाद रोहित एवं गौतम नजदीक प्लाट से कुल्हाड़ी एवं डंडे लेकर आ गए। प्लाट रोहित का है। इसके बाद रोहित, गौतम, विनय एवं नाबालिग ने मिलकर राहुल एवं रमेश के ऊपर हमला बोल दिया। दोनों की मौत होने के बाद पेट्रोल डालकर आग लगा दी। लाश बुरी तरह झुलसने के बाद कुछ दूरी पर गड्ढा खोदकर दबा दिया। मामले में दो आरोपियों रोहित एवं विनय को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि आरोपी नाबालिग को रविवार गिरफ्तार किया गया। तीनों को रविवार अदालत में पेश किया गया। इनमें नाबालिग को सुधार गृह भेज दिया गया जबकि दो आरोपियों को तीन दिन की रिमांड पर लिया गया है।

सुधार गृह में नहीं सुधर रहे आरोपी

गाढ़ौली कांड के चार आरोपियों में से एक आरोपी नाबालिग है। वह एक डकैती के मामले में गिरफ्तार हो चुका है। उसे फरीदाबाद स्थित सुधार गृह में भेजा गया था। जमानत पर बाहर आने के बाद फिर आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त हो गया। इससे साफ है कि सुधार गृह में आरोपी सुधर नहीं रहे हैं। गाढ़ौली कांड के आरोपी की उम्र क्या है, इस बारे में पता किया जाएगा। यदि इसकी उम्र 16 साल से अधिक है फिर इसे वयस्क के दायरे में रखने की अपील जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड से की जाएगी।

......................

मामले में एक आरोपी दलित वर्ग से आता है इसलिए एससी-एसटी एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। वैसे चारों आरोपियों के खिलाफ हत्या के साथ ही साक्ष्य को मिटाने के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है। तीन आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। एक फरार चल रहा है। उसके पीछे टीम लगी हुई है। उसे भी जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।