# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
8953 अभ्यर्थियों ने दी शिक्षक पात्रता परीक्षा

फरीदाबाद : हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (एचटेट लेवल एक और दो) की परीक्षा रविवार को कड़ी निगरानी में संपन्न हुई। प्रथम लेवल में 3727 और द्वितीय लेवर में 5226 परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया। इसके लिए फरीदाबाद में 36 सेंटर बनाए गए थे। परीक्षा केंद्रों पर धारा-144 लगाई गई थी।

लेवल दो (टीजीटी) की परीक्षा सुबह दस बजे से साढ़े 12 बजे तक आयोजित गई थी। परीक्षार्थियों ने अशोका मेमोरियल पब्लिक स्कूल में हुई घटना से सबक लेते हुए अपने सभी आवश्यक दस्तावेज साथ लेकर पहुंचे थे। इसके अलावा महिला परीक्षार्थी घर से ही बाल बांधकर और आभूषण वगैरह पहन कर नहीं आइ थी। परीक्षा केंद्रों पर शनिवार की तरह ही बेहद सख्त सुरक्षा दिखाई दी। कई परीक्षा केंद्रों पर पुरूष परीक्षार्थियों के जूते तक की मेटल डिटेक्टर से जांच की गई। इसके अलावा बायोमीट्रिक जांच भी की गई, जबकि प्रथम लेवल (पीआरटी) की परीक्षा तीन बजे से 5:30 तक हुई। इस दौरान सेंटर का माहौल सामान्य रहा।परीक्षा प्रबंधकों को पहले से ही अनुमान था कि ठंड के चलते सुबह के समय परीक्षार्थी देरी से पहुंचेंगे और जांच के दौरान परेशानी नहीं हो, इसके लिए रोल नंबर सत्यापन के लिए चार से पांच काउंटर बनाए गए थे।

------------------------------------

प्रत्येक परीक्षार्थियों की हुई वीडियो रिकार्डिंग

परीक्षा कक्ष में प्रवेश करने से पहले प्रत्येक छात्र की वीडियो रिकार्डिंग की गई। प्रत्येक जगह पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों को परीक्षा कक्ष से बाहर निकलने की स्वीकृति नहीं थी। कक्ष में प्रवेश करने से पहले कई जगहों पर प्रवेश पत्र की जांच की गई। इस दौरान अगर किसी परीक्षार्थी का प्रवेश पत्र सत्यापित नहीं तो उसे परीक्षा कक्ष में प्रवेश की स्वीकृति नहीं दी गई।

-----------------------------------------------

कई छात्रों का ऑनलाइन नहीं दर्ज हुई उपस्थिति

परीक्षा के दौरान कई परीक्षार्थियों की बायोमीट्रिक के माध्यम से उपस्थिति दर्ज नहीं हो सकी। ऐसे परीक्षार्थियों की उपस्थिति ऑफ लाइन मशीन से फोटो खींच कर की गई। उपस्थिति दर्ज करने वाले एक अधिकारी का कहना था कि यह डिवाइस एचटेट के सर्वर से जुड़ा है। फोटो खिंचने के बाद वह सीधे सर्वर जाकर सुरक्षित हो जाता है।