News Description
प्रतिभाशाली बच्चों को सरकार देगी कोचिंग

 जिले के वे गरीब बच्चे जिनमें आईआईटी व एनईईटी की पात्रता परीक्षा पास करने की क्षमता व प्रतिभा तो है पर आर्थिक तंगी के कारण अच्छी संस्था में कोचिंग नहीं ले सकते उनके लिए मुफ्त में कोचिंग की व्यवस्था सरकार द्वारा की जाएगी। ऐसे बच्चों के चयन के लिए परीक्षा 9 जुलाई को सुबह 11 से 2 बजे तक नारनौल व महेंद्रगढ़ में होगी। यह बात नगराधीश डा. सुनील कुमार ने आज लघु सचिवालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कही। 
उन्होंने बताया कि इस चयन परीक्षा में 45 प्रश्न एप्टीट्यूड व रीजनिंग के तथा 15 प्रश्न विज्ञान एवं गणित विषय से संबंधित होंगे। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कार्यरत डीएसएस एवं डीएमएस इस प्रोग्राम के नोडल अधिकारी होंगे। 
नगराधीश ने कहा कि राज्य सरकार ने आईआईटी (इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ  टेक्नोलॉजी) और एनईईटी (राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा) की प्रवेश परीक्षाओं में अगले 2 सालों में बढ़त को बरकरार रखने की मंशा से पहले चरण में करीब एक हजार बच्चों को निशुल्क कोचिंग दिलाने का फैसला किया है। इन बच्चों की कोचिंग का खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन एवं शिक्षा विभाग के सहयोग से प्रमाणित कोचिंग संस्थानों का चयन कर लिया गया है। 
उन्होंने बताया कि इसके इच्छुक विद्यार्थी  अपना आवेदन संबंधित स्कूल में जमा करवाएं। पहले चरण की कोचिंग के लिए बच्चों की चयन परीक्षा 9 जुलाई को होगी।
डा. सुनील कुमार ने बताया कि सभी राजकीय विद्यालय एवं निजी विद्यालय के इच्छुक विद्यार्थी इस परीक्षा के लिए अपना आवेदन अपने संबंधित स्कूल में जमा करवाएं व स्कूल मुखिया विद्यार्थियों के आवेदन को संबंधित खंड कार्यालय में जमा करवाएंगे तथा खंड कार्यालय इसकी सूची बनाकर आवेदन पत्रों सहित जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में 7 जुलाई दोपहर 1 बजे तक जमा करवा सकते हैं। 
उन्होंने बताया कि चयन परीक्षा के लिए आवेदन पत्र संबंधित विद्यालय खंड शिक्षा कार्यालय से प्राप्त कर लें। सर्व शिक्षा अभियान कार्यालय नारनौल से आवेदन पत्र जिले के सभी खंड शिक्षा कार्यालय में ई-मेल कर दिए गए है।