News Description
पात्र' बनने को उमड़ा परीक्षार्थियों का हुजूम

बहादुरगढ़ :पात्र शिक्षक बनने के लिए एचटेट के लेवल-3 में शनिवार को यहा परीक्षार्थियों का भारी हुजूम उमड़ा। केंद्रों के बाहर लंबी लाइनें, बेचैन परिजन, बारीकी नजर डाले पुलिस अमला और फिर सन्नाटे के बीच अढ़ाई घटे तक चली परीक्षा में नकल की संभावना को क्षीण बनाने के लिए आखिर तक मुस्तैदी दिखी।

बहादुरगढ़ में अलग-अलग शिक्षण संस्थानों में कुल मिलाकर बनाए गए 16 केंद्रों पर यह परीक्षा आयोजित की गई। कई स्कूलों में दो-दो परीक्षा केंद्र थे। प्रत्येक पर तीन सौ से अधिक परीक्षार्थी रहे। इस परीक्षा को नकल रहित और शातिपूर्वक ढग से संपन्न कराने के लिए पुलिस-प्रशासन ने एड़ी चोटी का जोर लगाया। परीक्षार्थियों के लिए भी केंद्रों पर पहुचने में किसी तरह की परेशानी नही आई।

तीन स्तरों पर चेकिंग, फिर हुई परीक्षा

सभी परीक्षा केंद्रो पर कई देर पहले से ही प्रवेश शुरू हो गया था। परीक्षा तीन बजे शुरू हुई। जबकि परीक्षा केंद्रों पर 12:50 से ही एंट्री शुरू कर दी गई थी। उससे पहले ही बाहर परीक्षार्थियों की लंबी लाइनें लग गई थी। महिला परीक्षार्थियों की संख्या ज्यादा रही। मुख्य द्वार से लेकर तीन स्तर पर चेकिंग हुई। सभी परीक्षा केंद्रों पर अलग-अलग चेकिंग प्वाइंट बनाए गए थे। पुरुष परीक्षार्थियों के तो जूते निकलवाकर जाच की गई। उसके बाद उनके अनुक्रमाक और पहचान पत्रो की जाच की गई। गेट पर मेटल डिटेक्टर भी रहे। परीक्षा केंद्रों के अंदर जैमर लगे रहे, ताकि मोबाइल काम न कर सकें। सीसीटीवी कैमरों में पूरा दृश्य कैद होता रहा। परीक्षा केंद्र में दाखिल होते समय वीडियोग्राफी भी गई। महिला परीक्षार्थियों के सभी तरह के आभूषण निकलवा दिए गए।

बेचैन दिखे परिजन

सभी केंद्रों पर महिला परीक्षार्थियों के साथ उनके परिजन भी आए थे। इक्का दुक्का को छोड़कर किसी के साथ पति तो किसी के साथ परिवार के दूसरे सदस्य रहे। उनमें भी इस परीक्षा को लेकर बेचैनी दिखी। परीक्षा केंद्रों के बाहरी गेट से चिपके ये लोग अंदर झाकते रहे। परीक्षा शुरू होते ही इन्हे दूर-दूर कर दिया गया।