News Description
दूषित पेयजल की आपूर्ति, शिकायत नहीं सुनते अधिकारी

जगाधरी : सरकार स्वच्छ पेयजल प्रत्येक नागरिक को देने का दावा करती है। इसके साथ आमजन को स्वच्छता का पाठ पढ़ाने के लिए कई योजनाएं चल रही हैं, लेकिन जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इन दावों को फेल कर रहे हैं। गंगानगर कालोनी में एक माह से गंदा पानी आ रहा है। शिकायतों के बावजूद इसे ठीक नहीं कराया गया। इससे कालोनीवासियों में रोष है।

कालोनी निवासी अनिल राणा, तरसेम, ¨डपल, प्रताप, मान¨सह, रूपचंद, रतनलाल, रूप कुमारी, सरला देवी आदि ने बताया कि कालोनी में टोंटियों से गंदे पानी की आपूर्ति हो रही है, जो जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा पाइप लाइन टूटने से गंदा पानी आ रहा है। इस बारे में कई बार संबंधित अधिकारियों को शिकायत की गई। हर बार अधिकारी शीघ्र ही पाइप लाइन ठीक करने का आश्वासन देते हैं। लेकिन इस ओर कोई साकारात्मक कदम नहीं उठाया गया। मजबूरन गंदा पानी पीना पड़ रहा है। इसका कालोनी वासियों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। गंदे पानी से होने वाली बीमारियों से कई लोग ग्रस्त हैं। यदि शीघ्र ही पाइप लाइन ठीक करके शुद्ध पेयजल की आपूर्ति नहीं कराई गई, तो कालोनी में बीमारी फैल सकती है।

बाल्टी आदि में पानी लेने पर गंदगी साफ नजर आती है। पानी से बदबू भी आ रही है। प्रशासनिक अधिकारी जनता को स्वच्छता का पाठ पढ़ा रहे हैं, जबकि स्वयं इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे। जो सरकार की योजनाओं को धूमिल कर रहे हैं। जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए