News Description
आठ साल बाद भी प्रशासन बीपीएल परिवारों को नहीं दे पाया आशियाने

अंबाला : छावनी के घसीटपुर स्थित सेक्टर-33, 34,35 में बीपीएल और गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों को पक्की व स्थाई छत देने वर्ष 2009 में फ्लैट तैयार करवा दिए गए थे। लेकिन आज भी जिलेभर के करीब एक हजार लोगों को आज तक इन फ्लैटों में रहने के लिए अलॉटमेंट नहीं मिल पाई है। हालात यह है कि यह मामला कई बार सीएम ¨वडो पर भी पहुंच चुका है बावजूद इसके लोगों को रहने के लिए फ्लैट नहीं मिल पाए है। ऐसे में छावनी की खटीक मंडी निवासी संतोष कुमार खींची और रा¨जद्र कुमार ने अब एक बार फिर से इसके लिए सीएम ¨वडो पर शिकायत देकर फ्लैट अलॉटमेंट लेने के लिए गुहार लगाई है।

जानकारी के मुताबिक झोपड़ पट्टी में रहने वाले और बीपीएल परिवारों के लिए सरकार ने घसीटपुर में अलग-अलग सेक्टर काटकर इनमें फ्लैटों का निर्माण करवाया था। 2009 में करीब 1500 लोगों के लिए यह फ्लैट बनकर तैयार हो गए थे। इन फ्लैटों का आबंटन करने के लिए सरकार ने संबंधित लोगों से आवेदन मांगे थे और वर्ष 2010-11 में आवेदनकर्ताओं से करीब 81-81 सौ रुपये भी संपदा अधिकारी के खाते में सरकार के नाम जमा करवाए थे। लेकिन उसके बाद से आज तक भी फ्लैट नहीं मिले है।

कई बार लिख चुके पत्र, सीएम ¨वडो पर भी सुनवाई नहीं

उधर, दूसरी बार सीएम ¨वडो पर शिकायत देने वाले संतोष कुमार ने बताया कि पहली बार उन्होंने 2 मई 2017 और दूसरी बार 18 सितंबर 2017 को की गई थी। सीएम ¨वडो पर शिकायत देने के बाद नवंबर महीने में ही एसडीएम द्वारा पत्र जारी किया गया था कि उन्हें एक सप्ताह के बाद फ्लैटों की अलॉटमेंट दे दी जाएगी लेकिन अभी तक उन्हें दोबारा बुलाया तक नहीं गया। उन्होंने बताया कि करीब एक हजार लोगों ने आवेदन किया हुआ है जो कि अलॉटमेंट मिलने का इंतजार कर रहे हैं। खटीक मंडी के विजय कुमार, संतोष द्विवेदी, अर्जुन कुमार समेत अन्य ने भी सरकारी खाते में रुपये जमा करवाए हुए है।