News Description
303 में से 25 को मिला रोजगार योजना में ऋण

पानीपत : जिला उद्योग केंद्र ने अप्रैल से लेकर 21 दिसंबर तक 303 युवाओं को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत विभिन्न बैंकों में ऋण दिलाने के लिए आवेदन प्रेषित करवाए। इन 303 बेरोजगारों में से मात्र 25 युवकों को स्वरोजगार अपनाने के लिए ऋण स्वीकृत किया गया। 278 बेरोजगार युवा बैंकों के साथ-साथ जिला उद्योग केंद्र के धक्के खाने पर मजबूर हैं।

यही नहीं, बैंक 31 युवाओं की ऋण के आवेदन स्वीकृत कर चुके हैं। उसके बाद भी 25 को ही ऋण दिया गया। 192 आवेदन रद कर दिए गए।

युवा बेरोजगारों का कहना है कि नौकरी मिल नहीं रही। सरकार स्वरोजगार अपनाने के प्रेरित कर रही है। स्वरोजगार अपनाने के लिए पहले जिला उद्योग केंद्र से प्रशिक्षण लेते हैं। उसके बाद प्रोजेक्ट बनाकर आवेदन देते हैं। प्रोजेक्ट जिला उद्योग केंद्र के वरिष्ट अधिकारी स्वीकृति देकर ऋण के लिए बैंकों में भिजवाते हैं उसके बाद बैंकों के चक्कर काटने का सिलसिला शुरू होता है। कई-कई माह तक चक्कर काटने के बाद बैंक अस्वीकृति प्रदान करते हैं। यदि ऋण स्वीकृत ही नहीं करना तो आवेदन जमा होने के साथ ही बैंकों को एक दो दिन में जवाब दे देना चाहिए, ताकि बेरोजगार अन्य रोजगार की तलाश कर सके