News Description
हरियाणा कर्मचारी संघ ने किया निगम आयुक्त के आवास का घेराव

फरीदाबाद, 22 दिसम्बर: नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के तत्वावधान में 16 दिनों से आन्दोलन कर रहे गुस्साए कर्मचारियों ने आज निगम आयुक्त के आवास का घेराव किया। भोजनावकाश के समय निगम के सफाई कर्मचारी, सीवरमैन, बेलदार, ड्राईवर, वॉटर सप्लाई विंग कार्यालय सहित फील्ड के अन्य सैकड़ों कर्मचारी निगम मुख्यालय पर एकत्रित हुए।
 
जहां सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर की अध्यक्षता में विशाल सभा का आयोजन किया। सफाई कर्मचारी यूनियन के वरिष्ठ उपप्रधान श्री नंद ने मंच का संचालन किया। इसके बाद कर्मचारियों ने विशाल जूलूस बनाकर आयुक्त निवास की ओर कूच किया। निगमायुक्त सरकारी कार्य में व्यस्त होने के कारण आवास पर उपस्थित नहीं थे। सेवानिवृत्त अशोक कुमार पी0ए0 द्वारा दूरभाष पर बात करके कर्मचारी नेताओं के साथ निगम आयुक्त से बैठक कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद कर्मचारी निगम मुख्यालय पर वापिस लौट आए।  प्रदर्शनकारी कर्मचारियों ने भाजपा सरकार पर दोयम दर्जे की नीति अपनाने का आरोप लगाते हुए नारा लगाया जो चीन का यार है वो देश का गद्दार है। चीन से यारी सफाई कर्मचारियों से गद्दारी नहीं चलेगी। नपा संघ ने अब इन नारों के साथ चीन की कंपनी इको ग्रीन के खिलाफ और अपनी न्यायोचित मांगों को मंगवाने के लिए जनता के दरबार में जाने का फैसला लिया है।
 
कर्मचारियों को संबोधित करते हुए नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री, राज्य सचिव सुनील चिण्डालिया, संघ के जिला सचिव नानकचंद खैरालिया, सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर ने निगम प्रशासन पर वायदाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि निगम प्रशासन कर्मचारियों से कई दौर की वार्ता करने के बाद भी उनकी न्यायोचित मांगों को कार्यान्वित करने को तैयार नहीं है इसलिए कर्मचारियों को मजबूरन ठंड के मौसम में आन्दोलन करने को मजबूर होना पड़ा। शहर में विकास कार्यों एवं सीवरेज सफाई व्यवस्था के प्रभावित होने से जनता को हो रही परेशानी का जिम्मेदार भी निगम प्रशासन है क्योकि निगम आयुक्त के बाद अतिरिक्त निगम आयुक्त पार्थ गुप्ता एवं संबंधित अधिकारियों का दायित्व बनता है कि वो कर्मचारियों की मानी हुई मांगों का तुरन्त प्रभाव से समाधान करें लेकिन निगम में यह आलम है कि अधिकारी कार्यालय में बैठते ही नहीं इसलिए मजबूर होकर अब कर्मचारियों ने अधिकारियों के आवासों की ओर रूख कर लिया है।