News Description
सडक़ों के निर्माण कार्य जून माह तक किया जाएगा पूरा :-ओएसडी

ओएसडी अमरेन्द्र सिंह ने कहा कि जनता को अपनी समस्या के हल के लिए कार्यालयों के अधिक चक्कर ना लगाने पड़े ,उनका प्रयास है कि लोगों की जायज समस्याओं को जनता दरबार लगा कर हल किया जाए तथा सार्वजनिक कार्यो को मुख्यमंत्री के माध्यम से पूरा करवाने का प्रयास किया जा रहा है, इसी कड़ी में करनाल की सभी जरूरी सडक़ों के निर्माण कार्य को जून माह तक पूरा करवाया जाएगा। 
ओएसडी शुक्रवार को कुंजपुरा रोड़ स्थित अपने सरकारी आवास पर जनता दरबार लगाकर लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। उन्होंने जनता दरबार में आए लोगों से कहा कि सरकार के पास सार्वजनिक कार्यो के लिए धन की कोई कमी नहीं है। वह अपने प्रतिनिधियों के माध्यम से सार्वजनिक विकास कार्य लेकर आए,उन्हें तुरंत पूरा करवाया जाएगा। जनता दरबार में बुढ़ा खेड़ा गांव में नगर निगम की जमीन पर अवैध रूप से निर्माण कार्य की शिकायत ओएसडी के सामने आई,ओएसडी ने तुरंत संज्ञान लेते हुए नगरपालिका के एमई को सिफारिश की कि नगर निगम की जमीन पर अवैध निर्माण क्यों हो रहा है? इसे तुरंत रूकवाया जाए। रमेश नगरवासी सुभाष महाजन ने ओएसडी से मांग की कि पिछले कईं वर्षो से उनके लडक़े का डिपो होल्डर है,जिससे परिवार का गुजारा चल रहा था,अचानक मेरे लडक़े की मृत्यु हो गई है,अब मेरे लडक़े के बेटे के नाम डिपो होल्डर किया जाए ताकि परिवार का खर्च सुचारू रूप से चलाया जा सके। इस पर ओएसडी ने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारी को सिफारिश की कि नियमानुसार डिपो होल्डर के लडक़े के नाम डिपो किया जाए। 
अमुपुर फीडर पर लगने वाले ग्रामीणों ने जनता दरबार में मांग की कि हरियाणा सरकार की पैट स्कीम जिसके अन्तर्गत डेरों पर बिजली आपूर्ति दी जाती है। इस स्कीम के तहत डेरों पर ठीक प्रकार से बिजली नहीं पहुंच रही है। इस पर ओएसडी ने निगम के अधीक्षक अभियंता को सिफारिश की कि डेरों पर जाने वाली बिजली बिना किसी अवरोध के लोगों को मिले,इसकी व्यवस्था की जाए। शुक्रवार को जनता दरबार में बिजली,पानी,राशन कार्ड,पेंशन बनवाने,रोजगार आदि संबंधी शिकायतें आई,जिनका ओएसडी ने मौके पर ही अधिकारियों के सहयोग से निराकरण किया तथा शिकायतकर्ता को संतुष्ट करने का प्रयास किया। 
इस मौके पर ओएसडी कार्यालय के इंचार्ज कुलदीप शर्मा,भाजपा कार्यकर्ता मनोज पाल,सुनील गोयल,दिग्विजय सिंह ,सुरेश चौधरी,देवेन्द्र सिंह,गोबिंद भारद्वाज सहित गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। 
बॉक्स:-एचटेट की परीक्षा के सफल आयोजन के लिए मुख्यमंत्री ने खुद निभाई भूमिका
ओएसडी ने कहा कि एचटेट परीक्षा,जिसमें प्रदेश के करीब 4 लाख विद्यार्थी परीक्षा देंगे। इस परीक्षा को पारदर्शी व नकलरहित बनाने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भिवानी बोर्ड के सचिव को विशेष निर्देश दिये कि परीक्षा देने वाले किसी भी परीक्षार्थी को दिक्कत नहीं आनी चाहिए। परिणामस्वरूप भिवानी बोर्ड से अनुक्रमांक देने के लिए परीक्षार्थियों पर फोन से सूचना आई। इतना ही नहीं जिन विद्यार्थियों ने अपने फार्म में कोई गलती की है तो उसे भी भिवानी बोर्ड के कर्मचारियों ने फोन के माध्यम से दूर किया। यह अपने आप में मुख्यमंत्री की बेहतर कार्यशैली का परिणाम है।