News Description
अभिभावक बच्चों को कला के साथ जोड़ें - सुनिता वर्मा

उपायुक्त  सुनीता वर्मा ने कहा कि अभिभावक बच्चों को कला के साथ जोडक़र उनकी प्रतिभा में निखार लाएं। बच्चों को मोबाईल व टीवी से दूर रखकर उन्हें चित्रकला जैसी हॉबी को अपनाकर प्रतिभा में निखार लाने का काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हर बच्चे में प्रतिभा छीपी होती है, केवल उसे उचित अवसर प्रदान करके इस प्रतिभा को निखारा जा सकता है। 

 सुनीता वर्मा आज स्थानीय आरकेएसडी कालेज के इवनिंग ब्लॉक में एसडीएम कमलप्रीत कौर द्वारा तैयार की गई चित्रों की प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद उपस्थितगण को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि चित्रकला एक अच्छा शौक है, जिसके माध्यम से व्यक्ति अपने विचारों को चित्रों के माध्यम से चित्रित करके अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करता है। उन्होंने कहा कि एसडीएम कमलप्रीत कौर द्वारा प्रशासनिक कार्यों में व्यस्तता के बावजूद इन चित्रों के लिए समय निकालना अच्छी बात है। उन्होंने उन द्वारा बनाए गए चित्रों की सराहना करते हुए कहा कि श्रीमती कमलप्रीत कौर ने अपनी चित्रों में प्राचीन संस्कृति का अनुठा चित्रण करके समाज को संदेश देने का काम किया है। उन्होंने इन चित्रों के माध्यम से हमारी आधुनिक संस्कृति को भी उजागर किया है। 

उपमंडलाधीश  कमलप्रीत कौर ने उपायुक्त  सुनीता वर्मा का स्वागत करते हुए कहा कि मैंने चित्रकला की कभी भी कोई तालीम नही ली, मेरा बचपन से ही पेंटिंग करने का शौक रहा है। पेंटिंग करने से मुझे संतुष्टि भी होती है। माता-पिता को अपने बच्चों के प्रति जागरूक होना चाहिए और उनकी प्रतिभा को पहचाना चाहिए।