News Description
नाबालिगों के चालान काटने पुलिस पहुंची स्कूलों के बाहर

नाबालिगविद्यार्थियों को स्कूल जाने के लिए दोपहिया वाहन देने वाले अभिभावक बार-बार चेतावनी देने के बाद भी भले ही बच्चों यातायात नियमों की परवाह नहीं कर रहे हैं, लेकिन शहर में पुलिस यातायात नियमों को लेकर अब अलर्ट हो गई है। किसी नाबालिग के कारण सड़क दुर्घटना हो इसके लिए ट्रैफिक पुलिस ने मंगलवार को संयुक्त कार्रवाई की। पुलिस की एक पीसीआर शहर के पास इलाकों में बने स्कूलों के पास छुट्टी होते ही पहुंची। 

डीएवीस्कूल के पास से शुरू हुई कार्रवाई : शहरके सेक्टर-15 स्थित डीएवी स्कूल के सामने से पुलिस ने चालान काटने की कार्रवाई शुरू की। यहां जैसे ही गेट खुला पुलिस के जवानों ने स्कूटी बाइक सवार विद्यार्थियों को रुकवाना शुरू किया। हेलमेट, लाइसेंस कागजात की जांच की। कई विद्यार्थी नाबालिग मिले तो कई के पास लाइसेंस नहीं था। इसके साथ हेलमेट एकाध के सिर पर ही दिखा। पुलिस कर्मचारियों के सामने विद्यार्थियों ने चालान करने की रिक्वेस्ट भी की, पर पुलिस सख्त मूढ़ में दिखी। 

सोनीपत .पुलिस की टीम सेक्टर के स्कूलों में नाबालिकों के चालान करती हुई 

ट्रैफिक इंस्पेक्टर अजय मलिक ने बताया कि 20 प्रतिशत वाहन चालक ही हेलमेट का इस्तेमाल करते है। मलिक ने कहा अभिभावक बच्चों के भविष्य के बारे में सोचें, यातायात के नियम सिखाये। मलिक ने बताया मंगलवार को ट्रिपल राइडिंग के 60, बिना हेलमेट के 90 ब्लैक फिल्म के 11 चालान किए गए। 

यातायात नियमों के प्रति इतनी सजगता जिले में कभी देखने काे नहीं मिली। सड़क पर ही नहीं जांच लघु सचिवालय के बाहर भी कई घंटे जांच की गई। यहां जो कर्मचारी डीसी कार्यालय, एसडीएम कार्यालय, एडीसी कार्यालय पुलिस महकमे में काम करते हैं उनके वाहनों की जांच की गई। जो कर्मचारी बिना हेलमेट के आते मिले और अन्य नियम पूरे करते हुए नहीं मिले उन्हें वापस जाने को कहा गया। हेलमेट लगाने पर खासा जोर दिया गया। पुलिस की यह कार्रवाई पूरा दिन चर्चा में बनी रही।