News Description
प्रदेश में बेटी पढ़ाना तो दूर बेटी बचाना भी दूभर : आफताब

नूंह : मेवात मॉडल स्कूल की छात्रा रेणु की मौत मामले में पूर्वमंत्री आफताब अहमद ने बृहस्पतिवार को पीड़ित परिवार के घर पहुंच ढांढस बंधाया। आफताब ने कहा कि दुख की इस घड़ी में वे परिवार के साथ हैं। पीड़ित परिवार को पूरा न्याय दिलाया जाएगा। वहीं परिजनों ने कहा की ये आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या का मामला है। 

आफताब ने कहा कि प्रदेश सरकार बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने का ढोंग करती है। आज प्रदेश में बेटी पढ़ाना तो दूर बेटी बचाना दूभर हो रखा है। शिक्षा के मंदिर में जहां छात्र-छात्राएं अपना भविष्य संवारने के उद्देश्य से जाते हैं, वहां लगातार प्रदेश में हत्याएं हो रही हैं। हाल ही में गुरुग्राम के एक निजी स्कूल में एक मासूम बच्चे की निर्मम हत्या हो गई थी और सरकार हाथ पर हाथ धरे रही। सरकार की जांच में कुछ और निकला जबकि सच्चाई कुछ और ही थी। लोगों का भरोसा सरकार से खत्म होता जा रहा है।  प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है और ऐसा लगता है कि प्रदेश में कानून नाम की चीज ही नहीं है। मुख्यमंत्री व पूरा कैबिनेट अफसरों की साथ हिमाचल में पिकनिक मना रहा है और प्रदेश के लोग परेशान हो रहे हैं। जब से खट्टर सरकार हरियाणा में आई है तब से प्रदेश अपराधियों के लिए स्वर्ग बन गया है। कांग्रेस राज में विकास में नंबर वन गिने जाने जाना वाला हरियाणा अब भाजपा राज में अपराध में नंबर वन बनता जा रहा है।     

रेणु  के इस मामले में भी सरकार और पुलिस प्रशासन का रवैया ठीक नहीं रहा है और पीड़ित परिवार अपने को लाचार पा रहा है। आफताब अहमद ने कहा की वो खुद और कांग्रेस पार्टी पूरी तरीके से पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है और उच्च स्तर की न्यायिक जांच की मांग करती है। मामले में किसी प्रकार की सरकारी कोताही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।