News Description
हाईवे पर धुंध में भिडे़ 75 वाहन, एक की मौत, 30 घायल

करनाल : हाईवे पर बृहस्पतिवार की सुबह धुंध की वजह से एक के बाद एक कर 75 वाहन भिड़ गए। वाहनों के टकराने का सिलसिला सुबह छह बजे शुरू हो गया, जो 11 बजे तक चलता रहा। हादसे में 30 लोग घायल हो गए जबकि एक रोडवेज बस ड्राइवर की मौत हो गई। कुछ घायलों को राजकीय अस्पताल नीलोखेड़ी में दाखिल कराया गया। कुछ निजी अस्पताल में गए और दर्द को साथ लेकर अपने गंतव्य की ओर बढ़ गए।

संवाद सूत्र नीलोखेड़ी के अनुसार जीटी रोड पर रोडवेज बस व ट्रक की भिडंत हो गई। इसके साथ ही एक बाइक सवार भी ट्रक से भिड़ गया। इन दुघर्टनाओं से दो महिलाओं सहित 11 लोग घायल हो गए। जीटी रोड पर अलग अलग स्थानों पर यह हादसे सुबह नौ बजे से दस बजे के बीच हुआ। टोल प्लाजा के समीप करनाल से अंबाला की तरफ जा रही बस आगे जा रहे ट्रक से जा टकराई। ट्रक चालक ने गहरी धुंध की वजह से अचानक ब्रेक लगाई तो बस ट्रक के पीछे टकरा गई। बस में सवार नीरज (25) अंबाला, पूजा (40) भिवानी, रणधीर (35) बस्ताली, रोहताश (44) सफीदो, संदीप (25) प्योंत, अंकित (27), दिल्ली से अमृतसर जा रहे कैप्टन एसके पाल (58),अनिता पाल (45) व देव हरीश (18) वर्षीय घायल हो गए। हादसे में रोडवेज के बस चालक बलराज की मौत हो गई। वह गोहाना के गामड़ी गांव का रहने वाला था जबकि हादसे में दिल्ली निवासी बाइक सवार हरीश ट्रक से टकराने की वजह से गंभीर रूप से घायल हो गया। दूसरी ओर शामगढ़ गांव के पास धुंध की वजह से हुए हादसे में राजेश, राजकुमार, राहुल, मनोज व पुलकित घायल हुए। यहां से पता चला कि हादसे में घायल हुए कई लोग निजी अस्पतालों में उपचार के लिए गए हैं।

संवाद सूत्र तरावड़ी के अनुसार

हाइवे पर सुबह 6 बजे तीन कारें आपसे में टकरा गई। बताया जा रहा है कि तीनों कारें अंबाला से दिल्ली जा रही थी। इस हादसे मे दिल्ली के रहने वाले रोहन, अमृत लाल, श्याम ¨सह, माया गुप्ता तथा अकिल घायल हो गए। लोगों की मदद से उन्हें बाहर निकाला गया। ट्रैफिक इंचार्ज गौरव पूनिया ने बताया कि सभी सवारियां सुरक्षित हैं। कोई जान-माल की हानि नहीं हुई है।