# रक्षा मंत्रालय ने इजरायल के साथ रद्द की 500 मिलियन डॉलर की मिसाइल डील         # कालेधन पर भारत को जानकारी देंगे स्विस बैंक, पैनल की मंजूरी         # गुजरात चुनाव: कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, 77 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान         # दीपिका पादुकोण को जिंदा जलाने पर रखा 1 करोड़ का इनाम         # कश्मीर घाटी में लश्कर के शीर्ष नेतृत्व का सफाया: सेना         # आसमान छू रहे अंडों के दाम, चिकन के बराबर पहुंची कीमतें         # महाराष्ट्र: सड़क किनारे टॉयलेट करते पकड़े गए जल संरक्षण मंत्री राम शिंदे         # चीन में नए भारतीय राजदूत के रूप में आज कार्यभार ग्रहण करेंगे बंबावले         # ICJ चुनाव में भारत को रोकने के लिए ब्रिटेन ने चली गंदी चाल        
News Description
हरियाणा सरकार की किसान हितैषी योजनाओं का और अधिक प्रचार-प्रसार करना चाहिए- वीरेन्द्र सिंह

पानीपत: हरियाणा कृषि प्रधान प्रदेश है। कृषक को खुशहाल बनाने के लिए सरकार ने विजन 2022 लागू किया है ताकि किसान की आय का बढ़ाकर दुगुना करके उसे आत्मनिर्भर बनाया जा सके। इसलिए हरियाण कृषि एवं कल्याण विभाग के सभी अधिकारियों कर्मचारियों को गांव-गांव जाकर हरियाणा सरकार की किसान हितैषी योजनाओं का और अधिक प्रचार-प्रसार करना चाहिए। 

यह जानकारी हरियाणा कृषि एवं कल्याण विभाग के उप निदेशक वीरेन्द्र सिंह ने नई अनाज मंडी के कृषि एवं कल्याण विभाग के कार्यालय में आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए दी। उन्होंने कहा कि हरियाणा के किसानों ने हमेशा ही संसार में प्रदेश का नाम रोशन किया है। इसलिए एक बार फिर किसानों को आगे बढऩे के सभी अवसर उपलब्ध करवाए जाएंगे। हरियाणा देश का ऐसा पहला प्रदेश बन गया है, जहां की सभी मंडियों को -प्लेटफार्म से जोड़ दिया गया है।

उन्होंने कहा कि इस मिशन के तहत प्रदेश मे उचकृष्टता केन्द्रों की स्थापना, जल संसाधनों का प्रबन्धन, संरक्षित खेती, पौधा रोपण की गुणवता, मधुमक्खी पालन, किसानों के लाभ के लिए पोली हाउस खेती, बड़े कोल्ड स्टोरेज बनाना और उत्पादन और मार्केटिंग इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देना शामिल है। उन्होंने किसानों से अनुरोध किया कि वे नई तकनीकों का अपनाकर कृषि को एक लाभकारी व्यावसाय बनाने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दें ताकि हरियाणा को पुन: कृषि के मामले में भारत का नम्बर 1 प्रदेश बनाया जा सके।