# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
हरियाणा सरकार की किसान हितैषी योजनाओं का और अधिक प्रचार-प्रसार करना चाहिए- वीरेन्द्र सिंह

पानीपत: हरियाणा कृषि प्रधान प्रदेश है। कृषक को खुशहाल बनाने के लिए सरकार ने विजन 2022 लागू किया है ताकि किसान की आय का बढ़ाकर दुगुना करके उसे आत्मनिर्भर बनाया जा सके। इसलिए हरियाण कृषि एवं कल्याण विभाग के सभी अधिकारियों कर्मचारियों को गांव-गांव जाकर हरियाणा सरकार की किसान हितैषी योजनाओं का और अधिक प्रचार-प्रसार करना चाहिए। 

यह जानकारी हरियाणा कृषि एवं कल्याण विभाग के उप निदेशक वीरेन्द्र सिंह ने नई अनाज मंडी के कृषि एवं कल्याण विभाग के कार्यालय में आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए दी। उन्होंने कहा कि हरियाणा के किसानों ने हमेशा ही संसार में प्रदेश का नाम रोशन किया है। इसलिए एक बार फिर किसानों को आगे बढऩे के सभी अवसर उपलब्ध करवाए जाएंगे। हरियाणा देश का ऐसा पहला प्रदेश बन गया है, जहां की सभी मंडियों को -प्लेटफार्म से जोड़ दिया गया है।

उन्होंने कहा कि इस मिशन के तहत प्रदेश मे उचकृष्टता केन्द्रों की स्थापना, जल संसाधनों का प्रबन्धन, संरक्षित खेती, पौधा रोपण की गुणवता, मधुमक्खी पालन, किसानों के लाभ के लिए पोली हाउस खेती, बड़े कोल्ड स्टोरेज बनाना और उत्पादन और मार्केटिंग इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देना शामिल है। उन्होंने किसानों से अनुरोध किया कि वे नई तकनीकों का अपनाकर कृषि को एक लाभकारी व्यावसाय बनाने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दें ताकि हरियाणा को पुन: कृषि के मामले में भारत का नम्बर 1 प्रदेश बनाया जा सके।