News Description
अभिभावकों के साथ विद्यार्थियों का एसडीएम कार्यालय के सामने धरना

गोहाना : गांव खंदराई स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की छात्रा की गुमनाम चिट्ठी के विवाद में दो शिक्षकों (दंपति) का तबादला किए जाने से एक पक्ष के ग्रामीणों की नाराजगी बढ़ती जा रही है। बुधवार को कई अभिभावकों ने अपने बच्चों को स्कूल ही नहीं भेजा।

अभिभावक अपने बच्चों को साथ लेकर सोनीपत रोड स्थित उपमंडलीय परिसर में पहुंचे और एसडीएम कार्यालय के सामने धरना दिया। विद्यार्थियों और अभिभावकों ने दोनों शिक्षकों का तबादला रद करने की मांग की। अब यह मामला गुमनाम चिट्ठी की जांच छोड़ शिक्षकों के तबादले के विवाद पर डायवर्ट हो गया है।

बीते शुक्रवार को गांव खुदराई के राजकीय स्कूल की छात्रा की गुमनाम चिट्ठी पुलिस के पास पहुंचने का मामला सामने आया था। सूत्रों के अनुसार चिट्ठी में शिक्षकों व ग्रामीणों सहित सात व्यक्तियों के नाम हैं। चिट्ठी में यौन शोषण का जिक्र भी बताया जा रहा है। सोमवार को इसी मामले को लेकर एक पक्ष के ग्रामीणों ने विद्यालय पर ताला लगा कर दो शिक्षकों का तबादला करने की मांग की थी, जिस पर डीइओ ने उनकी ड्यूटी बीइओ कार्यालय में लगा दी गई। मंगलवार को दूसरे पक्ष के ग्रामीणों ने शिक्षकों के तबादले पर एतराज जताया था और कहा था कि तबादला रद न होने पर वे अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजेंगे। बुधवार को कई अभिभावकों ने अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजा और एसडीएम कार्यालय के सामने धरना दिया। शाम तक धरना दिया गया। एसडीएम सुभीता ढाका ने इस मामले में ग्रामीणों से बातचीत की और विद्यार्थियों को समझाया। एसडीएम ने सरपंच परवार ¨सह व स्कूल के प्राचार्य व ग्रामीणों से बंद कमरे में बातचीत की।

एसडीएम ने कहा कि सर्दी की छुट्टियों के बाद शिक्षकों के तबादले के मुद्दे का समाधान करवा दिया जाएगा। उन्होंने अभिभावकों को समझाया कि वे अपने बच्चों को स्कूल भेजें ताकि पढ़ाई बाधित न हो। उधर स्कूल के सामने बुधवार को भी पुलिस ने चौकसी बरती।