# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
डेढ़ वर्षीय बच्ची की खुले नाले में गिरकर मौत, नपा नहीं ले रहा जिम्मेदारी

महम.प्रशासन की लापरवाही की वजह से एक डेढ़ वर्षीय मासूम बच्ची नेहा की जान चली गई। फरमाणा चुंगी के आगे महम बाईपास पर घर से खेलने के लिए निकली बच्ची रोड क साथ बने खुले नाले में गिर गई। जब तक परिजन उसे ढूंढ पाते, उसकी मौत हो चुकी थी। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अब नगर पालिका और पीडब्लूडी विभाग एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डालकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं। कोई भी इस नाले की सफाई और ढकने की जिम्मेदारी नहीं ले रहा, जबकि पिछले तीन वर्ष से कर्मचारी इस नाले की सफाई करने तक नहीं आए। शहर में अन्य जगह भी खुले नाले पड़े हुए हैं, जिनकी कोई सुध नहीं ले रहा। इसे लेकर परिजनों व स्थानीय नागरिकों में रोष व्याप्त है। उन्होंने लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है। बड़ा सवाल यह भी उठता है कि यदि नपा और पीडब्लूडी दोनों सफाई से पल्ला झाड़ रहे हैं तो आखिर कौन यहां का जिम्मेदार है

फरमाणा चुंगी से आगे महम बाईपास निवासी मजदूर संदीप की दो बेटियां हैं। बड़ी पहली कक्षा की छात्रा है, जबकि छोटी बेटी नेहा डेढ़ साल की है। दादी ओमल का कहना है कि सुबह 9 बजे वह घर के आंगन में बैठी थी। उसकी पोती नेहा अचानक खेलते हुए बाहर निकल गई। वह कुछ समय तक दिखाई नहीं दी तो उसे लेने बाहर आई। ढूंढने पर भी उसे नेहा दिखाई नहीं दी।

घर के आगे से गुजर रहे नाले से उसे बुलबुले उठते दिखाई दिए। खोजबीन करने के बाद पानी के अंदर बच्ची मिली। पिता संदीप व मां पूजा ने बताया कि बेटी को सरकारी अस्पताल में लेकर गए, लेकिन डाॅक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया