News Description
स्पर्धाओं ने निखरती हैं प्रतिभा : सुमेधा

कुरुक्षेत्र :उपायुक्त सुमेधा कटारिया ने कहा कि स्पर्धाओं के आयोजन से विद्यार्थियों की न केवल प्रतिभा निखरती है, बल्कि उनका सर्वांगीण विकास होता है। ऐसे आयोजनों से विद्यार्थियों में मंच के प्रति रहने वाली झिझक दूर होती है तथा आत्मविश्वास का संचार होता है। उपायुक्त सुमेधा कटारिया बुधवार को हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद द्वारा आयोजित 3 दिवसीय राज्यस्तरीय कला उत्सव के उद्घाटन अवसर पर मुख्यातिथि के रूप में बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों में विद्यार्थियों को बढ़-चढ़कर भाग लेना चाहिए तथा अध्यापकों को भी उन्हें बढ़ावा देना चाहिए।

उपायुक्त सुमेधा कटारिया ने कहा है कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को किसी प्रकार की हीन भावना का शिकार नहीं होना चाहिए। सरकारी स्कूलों में जो शिक्षा, संस्कार व जीवन के सबक सीखने को मिलते हैं वह किसी मॉडल स्कूल में नहीं मिल सकते। वे स्वयं सरकारी विद्यालयों में पढ़ी हैं तथा उन्हें इस बात पर गर्व है। उन्होंने कहा कि छात्र जो सपने देखते हैं तथा उड़ान भरते हैं उसमें मां-बाप के आशीर्वाद के साथ-साथ अध्यापक मार्गदर्शन भी अहम होता है। सरकारी विद्यालयों के अध्यापक न केवल अनुभवी व शिक्षित है बल्कि अपने कार्य के प्रति भी पूरी तरह समर्पित है।

सर्व शिक्षा अभियान के जिला समन्वयक अरुण आश्री ने अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि उपायुक्त सुमेधा कटारिया के मार्गदर्शन व कार्यशैली से जिलाभर के अध्यापक व अधिकारी प्रेरणा लेते है तथा अपना काम पूरी कर्तव्य निष्ठा से करते हैं। उन्होंने बताया कि 3 दिवसीय राज्यस्तरीय कला उत्सव में प्रदेश के 22 जिलों से कक्षा 6 से 8 वर्ग के 800 विद्यार्थी विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग ले रहें हैं। 3 दिवसीय आयोजन में समूह गान, समूह नृत्य, विजुअल आर्टस व थियेटर की स्पर्धाएं होंगी। कला उत्सव का समापन व पुरस्कार वितरण समारोह 22 दिसम्बर को सम्पन्न होगा।

इस मौके पर जिला शिक्षा अधिकारी नमिता कौशिक, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी सतनाम ¨सह, खंड शिक्षा अधिकारी थानेसर विनोद कौशिक, बीईओ लाडवा रामेश्वर सैनी, बीईओ विरेंद्र गर्ग, ¨प्रसिपल संतोष शर्मा, एपीसी सतबीर शर्मा, सुनील कौशिक, संजय कौशिक, कृष्णा कुमारी, शिवचरण गुप्ता, सुरेंद्र ¨सह, डॉ. राम मेहर अत्री, शिव कुमार, डा. ओमप्रकाश व गिरधारी शर्मा प्रमुख रूप से मौजूद थे।