News Description
यूके की हर्बन कंपनी से बिजनेस के नाम पर 5 लाख ठगने वाले दो काबू

अंबाला शहर : यूके की कैंट फार्मास्यूटिकल हर्बल बीज कंपनी से बिजनेस के नाम पर शहर प्रेम नगर वासी अर¨वदर सरदाना से पांच लाख रुपये की ठगी में मुंबई के भयंदर वासी कर्ण उर्फ समीर मर्चेट तथा जितेंद्र मगन को पुलिस ने काबू कर लिया गया। मंगलवार कोर्ट में पेश कर पुलिस ने उनका दो दिन का पुलिस रिमांड लिया ताकि ठगी के पैसों की रिकवरी के अलावा उनके सहयोगियों की पहचान कर गिरफ्तार किया जा सके। 16 जून 2018 को बलदेवनगर थाने में ठगी व अमानत में खयानत की धाराओं के तहत दर्ज केस की तफ्तीश आर्थिक अपराध शाखा कर रही है। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस लगातार दबिश दे रही है।

जानकारी के अनुसार मामले की जांच में जुटी पुलिस को पता चला कि ठगी के कई मामलों में शामिल रहे समीर व पटियाला जेल में बंद हैं। वहीं से प्रोडक्शन वारंट पर लाकर उनका रिमांड लिया गया। ध्यान रहे कि अर¨वदर सरदाना की फेसबुक पर यूके की एंटरसन फेलोसिटी से दोस्ती हुई थी। एंडरसिटी ने स्वयं को वहां की कैंट फार्मास्यूटिकल कंपनी के प्रोडक्टस का बिजनेस करने के लिए उकसाया। समझाया कि कंपनी के वर्सिना हर्बल बीज आते हैं, जिसका एक पैकेट 4500 डालर का है। कंपनी के डायरेक्टर थोमस बरोमर से भी अर¨वदर की बात कराई गई। अर¨वदर को समझाया गया कि इंडिया के पूना में मिया हर्बल कंपनी यही प्रोडक्ट 2500 डालर में बेचती है। मियां हर्बल से लेकर सामान लेकर कैंट फार्मास्यूटिकल कंपनी को देंगे। बीच में जो 2000 डालर का फायदा होगा, उसमें से 1000-1000 डालर आपस में बांट लेंगे। अर¨वदर ने मियां हर्बल कंपनी से 1.47 लाख मूल्य का एक पैकेट मंगवाया। यूके से दिल्ली आए कंपनी के डायरेक्टर ने उसे देखकर सेंपल पास करवा दिया। इसके बाद बहाने से दो पैकेट और मंगवा लिए गए। करीब पांच लाख का सामान आने के बाद कंपनी अधिकारियों तथा एंडरसन ने उनकी बात सुननी बंद कर दी। इसके बाद एसपी को शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की गई थी।

एएसआइ रमेश कुमार तथा हेडकांस्टेबल जय कुमार के अनुसार रिमांड में आरोपियों से पूछताछ कर ठगी के पैसों की बरामदगी के प्रयास किए जा रहे हैं। आरोपी अंबाला के अलावा देशभर के कई राज्यों में इसी प्रकार की ठगी की वारदातों में शामिल रहे हैं। गैंग के अन्य सदस्यों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।