# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
प्रतिभाशाली बच्चों की पहचान के लिए परीक्षा 9 जुलाई को

नारनौल। आईआईटी (इंडियन इन्स्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी) और एनईईटी (राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा) की परीक्षाओं में राज्य की शानदार उपलब्धि से उत्साहित प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है कि जरूरतमन्द प्रतिभाशाली बच्चों की पहचान कर उन्हें परीक्षाओं की निशुल्क कोचिंग देने में मदद की जाए। पहले चरण की कोचिंग के लिए बच्चों की चयन परीक्षा 9 जुलाई को होगी जिसमें 400 बच्चों का चयन किया जाएगा। इसके लिए महेन्द्रगढ़ जिले में 2 परीक्षा केन्द्र होंगें। 11वीं में पढऩे वाले व 12वीं पास कर चुके विद्यार्थियों को परीक्षा के लिए संबंधित स्कूलों में जमा करवाएंगे तथा इसके बाद स्कूलों से संबंधित खंडों में फार्म पहुंचेंगे।
यह जानकारी देते हुए उपायुक्त राजनारायण कौशिक ने बताया कि सरकार ने आईआईटी (इंडियन इन्स्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी) और एनईईटी (राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा) की प्रवेश परीक्षाओं में अगले 2 सालों में बढ़त को बरकरार रखने की मंशा से पहले चरण में करीब एक हजार बच्चों को निशुल्क कोचिंग दिलाने का फैसला किया है। इन बच्चों की कोचिंग का खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा। इसके लिए प्रमाणित कोचिंग संस्थानों का चयन कर लिया गया है। 
उन्होंने बताया कि रेवाड़ी के विकल्प संस्थान को योजना का समन्वयक बनाया गया है। पहले चरण की कोचिंग के लिए बच्चों की चयन परीक्षा 9 जुलाई को होगी जिसमें 400 बच्चों का चयन किया जाएगा। कोचिंग के लिए इन 400 विद्यार्थियों को रेवाड़ी, महेन्द्रगढ़, गुरूग्राम, झज्जर, फतेहाबाद, नूंह व भिवानी जिलों में होने वाली चयन परीक्षा के माध्यम से चुना जाएगा। 
उन्होंने बताया कि जिला महेन्द्रगढ़ में 2 परीक्षा केन्द्र होंगें। खण्ड नारनौल, खंड नांगल चौधरी एवं अटेली के विद्यार्थियों का परीक्षा केन्द्र आईटीआई नारनौल होगा तथा खंड महेन्द्रगढ़ व कनीना के विद्यार्थियों के लिए परीक्ष केन्द्र राजकीय मॉडल संस्कृति विद्यालय महेन्द्रगढ़ होगा। 
दोनों केंद्रों पर परीक्षा का समय सुबह 11 बजे से 2 बजे तक होगा। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कार्यरत डीएसएस एवं डीएमएस इस प्रोग्राम के नोडल अधिकारी होंगे। इस प्रोग्राम से संबंधित कोई भी सूचना प्राप्त करने के लिए 9466397795 दिए गए नंबर पर संपर्क कर सकतें है। सभी राजकीय विद्यालय एवं निजी विद्यालय के इच्छुक विद्यार्थी इस परीक्षा के लिए अपना आवेदन अपने संबंधित स्कूल में जमा करवाएंगे व स्कूल मुखिया विद्यार्थियों के आवेदन को संबंधित खंड कार्यालय में जमा करवाएगें तथा खंड कार्यालय इसकी सूची बनाकर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जमा करवाएंगे। 
चयन परीक्षा की मैरिट के आधार पर चुने गए विद्यार्थियों को विकल्प कोचिंग संस्थान ने एम्स और आइआइटी के पास आउट शिक्षक कोचिंग देगें। इस कडी में डा. अजय गुप्ता व डा. अखिलेश मिश्रा केमेस्टरी पढ़ाएंगे तथा डा. एस के सिन्हा जूलॉजी, डा. उपेन्द्र वर्मा बॉटनी पढाएंगे। आइआइटी दिल्ली से कम्प्युटर साईंस में बीटेक नवीन कुमार मिश्रा बच्चों को फिजिक्स पढाएगें जबकि आइआइटी दिल्ली से परवीन शिकार गणित तथा आइआइटी रूड़की से गुरलीन भी कोचिंग देगें।