News Description
बूथ स्तर पर योजनाबद्ध तरीके से संगठन को मजबूत कर रही है पार्टी

झज्जर :गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भाजपा को बहुमत मिलने से पार्टी के कार्यकर्ता उत्साहित है। बूथ स्तर पर पार्टी मजबूत हो इस दिशा में पहले भी कार्य चल रहा था और हाल दिनों में और अधिक तेजी देखने को मिली है। प्रदेश संगठन के स्तर पर 9 दिसंबर को मुख्यमंत्री एवं अन्य पदाधिकारियों की मौजूदगी में जिलाध्यक्ष एवं जिला प्रभारियों की बैठक में मिशन 2019 को फतेह करने की कार्ययोजना तैयार की जा चुकी है। खास बात यह है कि जिला झज्जर रोहतक लोकसभा का हिस्सा होने के चलते भाजपा की केंद्रीय कमेटी की निगरानी में आगे बढ़ रहा है। संगठन के स्तर पर चल रही तैयारियों और भविष्य की इन्हीं योजनाओं को लेकर पार्टी के जिलाध्यक्ष बिजेंद्र दलाल से खास बातचीत हुई। जिसमें उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि कार्यकर्ता संगठन की नींव है और उन्हीं के बलबूते ही हर लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।

प्रश्न : 9 दिसंबर की बैठक में क्या खास रहा था

- मुख्यमंत्री मनोहर लाल, प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला और संगठन मंत्री की मौजूदगी में पार्टी के सभी जिलाध्यक्ष एवं प्रभारियों की बैठक हुई थी। मकसद साफ था कि मिशन 2019 को ध्यान में रखते हुए फील्ड में उतरने की जरूरत है। हर पहलु पर विस्तार से चर्चा हुई है। जनवरी 2018 में मुख्यमंत्री मनोहर लाल 2 दिनों के लिए जिला झज्जर में आएंगे। खास तौर उन दिनों 8 मंडलों के एक-एक हर उस गांव का दौरा करेंगे। जहां की आबादी 10 हजार से अधिक है। उम्मीद है कि उसके बाद काफी कुछ बदलने लगेगा।

प्रश्न : संगठन के स्तर पर कैसे तैयारियां चल रही है

- 9 दिसंबर की बैठक के बाद ही तिथिवार कार्यक्रम तय कर दिया गया है। जिला के संगठन की बैठक 14 ¨दसबर को हो चुकी है। उसके बाद मंडल की बैठक चल रही है। शक्ति केंद्र को मजबूत बनाने के लिए बूथ स्तर की बैठक होंगी। जिसमें तय किए गए प्रारूप के मुताबिक कार्यकर्ताओं की मौजूदगी सुनिश्चित की जाएगी। शक्ति केंद्र के बाद 10 जनवरी तक हर बूथ पर पहुंचते हुए यह अहसास करा दिया जाएगा कि किसी भी स्तर पर कोई दिक्कत नहीं है।

प्रश्न : क्या टारगेट रखकर कार्यकर्ताओं के साथ बैठक हो रही है

- टारगेट बिल्कुल स्पष्ट है। मिशन 2019 को फतेह करना है। विधानसभा हो या लोकसभा दोनों ही चुनाव में पार्टी जीत हासिल करेगी। यहां कार्यकर्ताओं का मान सम्मान होता है। उसी के मद्देनजर ही कार्य करने को कहा जा रहा है। हां, जो कार्यकर्ता समय नहीं दे पा रहे, उन्हें स्वयं पछ्वार से मुक्त हो जाना चाहिए। नहीं हो उन्हें संगठन के स्तर पर मुक्त कर दिया जाएगा।

प्रश्न : अभी हाल समय में दो ही सीट भाजपा के पास है

- बेशक ही झज्जर जिला के अंतर्गत 4 सीट आती है। तैयारी इस स्तर पर चल रही है कि चारों सीट जीतेंगे। चूंकि झज्जर रोहतक लोकसभा के अंतर्गत आता है और पिछली दफा 58 हजार से यहां भाजपा प्रत्याशी पिछड़े थे। लेकिन अब की दफा तैयारी इस तरह से चल रही है कि पार्टी का प्रत्याशी 58 हजार मतों से यहां से जीत कर निकलेगा। वैसे भी यह क्षेत्र केंद्र की निगरानी में आता है। ऐसे भी कभी भी कोई केंद्रीय पदाधिकारी संगठन के स्तर पर तैयारियों का जायजा लेने के लिए आ सकता है।

प्रश्न : झज्जर व बेरी के कार्यकर्ताओं का कहना है कि उनके कार्य नहीं होते

- ऐसा नहीं है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सोच है कि एक समान विकास । जो भी कार्यकर्ता उनसे संपर्क करते हैं और उनका जायज कार्य होता है। वह करवाया जाता है। जहां कार्यकर्ता के लिए अड़ने की जरूरत होती है। मैं स्वयं भी हर संभव प्रयास करता हूं और कार्य होते भी है। फिर भी कोई दिक्कत है तो कैबिनेट मंत्री भी इसी जिला से है। जबकि भाजपा में हर जगह पर एक जैसी सुनवाई होती है। इसके बावजूद भी कोई दिक्कत है तो उसका ध्यान दिया जाएगा।