# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
ट्रेनिंग के लिए नाम न होने पर महिलाओं ने किया हंगामा

गांव सदलपुर के कृषि विज्ञान केंद्र में मंगलवार से शुरू हुए पांच दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के पहले दिन महिलाओं ने जमकर हंगामा मचाया। जानकारी के अनुसार गांव के कृषि विज्ञान केंद्र में मंगलवार से अनुसूचित वर्ग की महिलाओं के पांच दिवसीय वस्त्र व फल व सब्जी प्रशिक्षण का शुभारंभ हुआ, जिसमें 30-30 महिलाओं को ट्रे¨नग दी जाएगी। शिविर में महिलाओं ने उनका चयन न होने पर गांव के सरपंच के पिता सतपाल जाजूदा के नेतृत्व में जमकर हंगामा किया। सतपाल जाजूदा ने कृषि विज्ञान केंद्र के अधिकारियों पर पैसे लेकर चहेतों को ट्रे¨नग देने का आरोप लगाया। जानकारी के अनुसार कृषि विज्ञान केंद्र सदलपुर में गांव नंगथला, गैबीपुर खरकड़ा, साहू, लुदास, सुलखनी, मंगाली झारा, बालावास, हाजमपुर, बीड़ हांसी व मोढ राघड़ा की अनुसूचित जाति की महिलाओं के लिए 19 से 23 दिसंबर तक पांच दिवसीय परिरक्षण शिविर आयोजित किया गया। शिविर में इन गांवों की महिलाओं को ही शामिल किया जाना था। हंगामा बढ़ता देख अधिकारियों ने सरपंच के पिता को 5 महिलाएं ट्रे¨नग में शामिल करने का आश्वासन दिया, जिस पर उनका गुस्सा शांत हुआ।

------

सरपंच के पिता राजनीति कर रहे -

सरपंच के पिता केवल वोटों की राजनीति कर रहे हैं और दबाव बना कर अपने पक्ष की महिलाओं को ट्रे¨नग में शामिल करवाना चाहते हैं। जो नियम के विरुद्ध है। फिर भी जो महिलाएं शेष हैं, उन्हें अगली ट्रे¨नग में शामिल किया जाएगा।