News Description
फर्जी दस्तावेज पर पाई थी चालक की नौकरी, गिरफ्तार

सोनीपत : सोनीपत डिपो में चालकों के भर्ती घोटाले में संलिप्त चालक कृष्ण कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शिकायत के बाद मार्च महीने में पहुंची सीएम फ्लाइंग की जांच में सामने आया था कि कई चालकों ने फर्जी शिक्षा प्रमाण पत्र और फर्जी ड्राइ¨वग लाइसेंस के बूते नौकरी पाई थी। यही नहीं इनके दस्तावेज की वेरीफिकेशन तक फर्जी हुई।

सीएम फ्लाइंग की टीम ने इस मामले में चार चालक को दोषी बताते हुए उनके खिलाफ थाना शहर में शिकायत दी थी। पुलिस ने सीएम फ्लाइंग की शिकायत पर सतवीर, विजय, कृष्ण और लक्ष्मण पर मामला दर्ज किया था, जिसमें से पुलिस ने खेड़ी दमकन निवासी कृष्ण को गिरफ्तार किया है।

2011 में हुई 48 रोडवेज चालकों की भर्ती में आरटीआइ से फर्जीवाड़ा उजागर हुआ था। जांच में सामने आया था कि एक चालक ने तो महिला की मार्कशीट पर ही नौकरी पाई है। यह महिला यमुनानगर की रहने वाली है। इस भर्ती पर हटाए गए अनुबंध पर लगे चालकों द्वारा आरटीआइ के तहत मांगी गई सूचना में यह पता चला था। भर्ती होने के लिए कई चालकों ने फर्जी लाइसेंस, फर्जी शैक्षणिक प्रमाण पत्र ही नहीं दिया बल्कि ड्राइ¨वग लाइसेंस व अनुभव प्रमाण पत्रों में भी फर्जीवाड़ा किया।

भर्ती में हैवी लाइसेंस की शर्त को भी दरकिनार किया गया। यहां बता दें कि सीएम फ्लाइंग ने शुरूआती जांच में कृष्ण व एक अन्य चालक को दोषी माना था