News Description
आजादी के लिए शहीद हुए वीर सपूतों को दी श्रद्धांजलि

रोहतक : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा पं. नेकीराम कॉलेज की इकाई ने भारत की आजादी के लिए शहीद हुए रामप्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला, ठाकुर रोशन ¨सह को श्रद्धांजलि दी। पं. नेकीराम कॉलेज के प्रधान सुमित ¨सघल, कृष्ण दलाल ने बताया कि आज ही के दिन 19 दिसंबर 1927 को अलग-अलग जेलों में फांसी दी गई थी।

इस दिन को देश बलिदान दिवस के रुप में मनाता है। उन्होंने बताया कि नौ अगस्त 1925 को अंग्रेजी सत्ता से पौने पांच हजार रुपये की डकैती हुई थी। जिसके बाद इस घटना को लोग काकोरी कांड के नाम से जानने लगे। इस घटना को भले ही 90 साल से अधिक गुजर गए हों, लेकिन आज भी उस समय के निशान दिखाई देते हैं।

पूर्व प्रधान दीपक धनखड़ ने बताया कि इस घटना के सबसे बड़े नाम रामप्रसाद बिस्मिल और अशफाक उल्ला अपनी शायरी और कविताओं के लिए भी काफी प्रसिद्ध थे।