News Description
21 दिसंबर को होगा प्रदेशव्यापी मॉकड्रिल ,जिले के 6 स्थानों का चयन

करनाल 19 दिसंबर:  प्राकृतिक आपदा कभी भी-कहीं भी आ सकती है, यदि इससे निपटने की तैयारी पहले से ही हो तो इससे होने वाली जान-माल की क्षति को काफी हद तक बचाया जा सकता है। इसी के दृष्टिगत हरियाणा में राजस्व विभाग द्वारा पिछले काफी दिनों से तैयारियां की जा रही हैं, जिसके तहत सभी जिलों में मॉकड्रिल के प्रशिक्षण किए गए हैं। अब 21 दिसंबर को प्रदेशव्यापी विशाल मॉकड्रिल होने जा रही है, जिसकी पूरे प्रदेश में एक ही समय पर एक्सरसाईज़ सम्पन्न करवाई जाएंगी। 
 
 चण्डीगढ़ स्थित सिविल सचिवालय से विडियो कॉन्फ्रैसिंग के जरिये प्रदेश के वित्त एवं राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने प्रस्तावित मॉकड्रिल बारे बताया कि हरियाणा का एन.सी.आर. का क्षेत्र रिस्क जोन में आता है। देखा जाए तो बीते 3 दशकों से राजधानी के आस-पास शहरीकरण में काफी बढ़ोतरी हुई है। भविष्य में भूकम्प जैसी आपदा से निपटने के लिए सभी तैयारियां जरूरी हो जाती हैं। उन्होने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि हरियाणा किसी भी प्रकार की आपदा से निपटने के लिए पूर्णत: तैयार है।
 
इसके लिए उन्होने प्रदेश के सभी जिलों के उपयुक्तों को बधाई दी और कहा कि 21 दिसंबर की मॉकड्रिल आपको कुछ नया सीखने का अवसर प्रदान करेगी। उन्होने यह भी कहा कि मॉकड्रिल की एक्सरसाईज में नागरिक सहभागिता भी होनी चाहिए, जो आदर्श रहेगा और इसके समापन पर सभी अधिकारी बैठकर इसका फोलोअप भी करें। अच्छा रहेगा कि इसमें निजी तौर पर अपने-अपने एरिया के जन प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित कर लिया जाए।  
 
इससे पूर्व विडियो कॉन्फ्रैसिंग में उपस्थित हरियाणा के मुख्य सचिव डी.एस. ढेसी ने बताया कि मॉकड्रिल का उद्देश्य किसी भी आपदा के समय क्या कुछ करना जरूरी होता है, उसे अच्छी तरह समझना है। उन्होने उदहारण देकर कहा कि सशस्त्र सेनाएं नियमित एक्सरसाईज करती रहती हैं और उसी के बल पर वे युद्ध और एन्काउंटर जैसी स्थिति से निपटने में सक्षम रहती हैं। हरियाणा में सिविल एडमिनिट्रेशन के जरिए पहली बार इतने बड़े पैमाने पर मॉकड्रिल की एक्सरसाईज करवाई जा रही हैं, ताकि किसी भी आपदा के आने से पहले इस बात की पूरी जानकारी हो कि उससे कैसे निपटा जाना है, ताकि घटना के समय जान-माल को बचाया जा सके।
 
वी.सी. में हरियाणा की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनन्द अरोड़ा ने प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों के साथ 21 दिसंबर को की जानी वाली मॉकड्रिल को लेकर तैयारियों की समीक्षा की तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होने वी.सी. के माध्यम से सभी उपायुक्तों से तैयारियों की जानकारी ली।
 
राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सदस्य मेजर जनरल वी.के. दत्ता ने भी विडियो कॉन्फ्रैसिंग के माध्यम से सभी जिला के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश हुए