News Description
राहुल शर्मा भारतीय सेना में बने लेफ्टिनेंट

 

कुरुक्षेत्र के गीता निकेतन आवासीय विद्यालय में पढ़ चुके एक पूर्व छात्र का भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर चयन हुआ है। भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून में नौ दिसंबर को आयोजित पा¨सग परेड में उन्हें लेफ्टिनेंट के पद पर नवाजा गया। राहुल शर्मा के अपने सेक्टर तीन निवास पर पहुंचने पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। राहुल ने लेफ्टिनेंट मनने का श्रेय अपने अपने माता-पिता, दादा व ताऊ को दिया है। राहुल शर्मा कक्षा छठी से लेकर 12वीं तक गीता निकेतन के छात्र रहे व उसके बाद एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी हिसार से बीएससी की। बचपन से ही देश की सेवा करने का जज्बा था व मन में एक सपना था कि किसी तरह भारतीय सेना में जाकर देश सेवा करें। राहुल शर्मा ने बताया कि छह बार वह असफल हुए। उन्होंने बताया कि 12वीं कक्षा पास करने के बाद सर्वप्रथम 2010 में उन्होंने भारतीय सेना में जाने के लिए परीक्षा दी, लेकिन वे उसमें पास नहीं हुए। उसके बाद उन्होंने हार नहीं मानी व हर वर्ष परीक्षा देते रहे। छह बार प्रयास करने के बाद सातवीं बार वे सफल हो गए। साधारण परिवार में जन्मे राहुल शर्मा ने बताया कि उनके पिता विजय शर्मा अध्यापक हैं व माता गृहणी हैं। उन्हें ताऊ व दादा की प्रेरणा से उन्होंने हार नहीं मानी। राहुल शर्मा ने बताया कि पांचवीं कक्षा तक गांव में रहते हुए उन्होंने शिक्षा ली। पिछले वर्ष उन्होंने सीडीएससी की परीक्षा दी थी, जिसमें वह सफल हुए व एक वर्ष देहरादून अकादमी में प्रशिक्षण लिया। एक वर्ष का प्रशिक्षण पूरा होने के बाद भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून में आयोजित परेड में उन्हें लेफ्टिनेंट के रैंक से नवाजा गया। राहुल के दो ताऊ पहले ही देश की सेवा कर रहे हैं। राहुल के चाचा अजय शर्मा वरिष्ठ अधिवक्ता हैं। कुरुक्षेत्र के सेक्टर-3 में राहुल के घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। भाजपा नेता कृष्ण बजाज, जिला बार एसोसिएशन के प्रधान मनोज वशिष्ठ, दीपक पाराशर ने बधाई दी है।