News Description
डाक्टरों की कुर्सी खाली, बिना इलाज लौट रहे मरीज

पिनगवां : कस्बा पिनगवां के स्वास्थ्य केंद्र में डाक्टरों की कुर्सियां खाली देखकर निराश होकर मरीजों को वापस घर लौटना पड़ रहा है। ऐसे में मरीजों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मरीजों का कहना है कि पिनगवां के स्वास्थ्य केंद्र में अधिकतर समय डाक्टरों की कुर्सी खाली ही रहती है।

जिससे उन्हें अपनी छोटी-मोटी बीमारियों के इलाज के लिए प्राइवेट अस्पतालों का सहारा लेना पड़ रहा है। अस्पताल में इलाज के लिए आए वहीद, सत्तार, कुर्शीद, रशीद ने बताया कि स्वास्थ्य केंद्र में तैनात डाक्टर अपनी कुर्सी को छोड़कर अस्पताल से बाहर घूमते रहते हैं। जिससे मरीज तंग आकर बिना इलाज ही अपने घर लौट जाते हैं। उन्होंने बताया कि इस स्वास्थ्य केंद्र की यह कोई नई बात नहीं है यहां तो यह खेल कई महीनों से चल रहा है। जिससे इलाके के सभी लोग तंग आ चुके हैं और खांसी, जुकाम, बुखार जैसी बीमारियों के लिए भी उन्हें बड़ी रकम चुकानी पड़ रही है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य केंद्र ग्रामीण क्षेत्रों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए बनाए गए थे। लेकिन अब उन्हें यहां सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं। पहले से ही इन स्वास्थ्य केंद्रों में डाक्टरों की कमी है। लेकिन जो डाक्टर यहां तैनात हैं वे भी अपनी ड्यूटी को सही तरीके से नहीं निभा रहे हैं।

जिससे लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं भी नहीं मिल पा रही हैं। लोगों का आरोप है कि जिले की स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से चरमराई हुई हैं। यहां विभाग में अफसरशाही चल रही है। जिससे डाक्टर भी खुलेआम लापरवाही करते नजर आते हैं। वहीं इस मामले में जब सिविल सर्जन से बात की गई तो उन्होंने भी गोलमोल जवाब ही दिया।