News Description
सुबह से शाम तक विजिलेंस ने की रोडवेज जीएम से पूछताछ

सिरसा : रोडवेज चालक भर्ती टेस्ट में रिश्वत का मामला सामने आने के बाद विजिलेंस जांच की आंच उच्च अधिकारियों तक भी पहुंच गई है। सोमवार को विजिलेंस टीम ने निवर्तमान महाप्रबंधक जगबीर अहलावत से सुबह से लेकर शाम तक पूछताछ की। विजिलेंस इंस्पेक्टर भूपेंद्र शर्मा के नेतृत्व में टीम ने महाप्रबंधक से कई सवाल पूछे। उनसे पूरे मामले की गंभीरता से जानकारी ली गई। महाप्रबंधक के अलावा टेस्ट प्रक्रिया में ही शामिल एक अन्य चालक सतबीर से भी पूछताछ की गई। सतबीर टेस्ट देने के लिए आने वाले उम्मीदवारों को निर्धारित स्थान पर बस लगाकर देता है।

इससे पहले विजिलेंस द्वारा राजस्थान के एक उम्मीदवार को पास करवाने के नाम पर एक लाख 10 हजार रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में चालक किस्मत ¨सह को गिरफ्तार किया जा चुका है। फिलहाल किस्मत न्यायिक हिरासत में है।

अब तक महाप्रबंधक अहलावत रिश्वत के मामले की जानकारी होने से मना करते रहे हैं। मगर सूत्रों की मानें तो विजिलेंस टीम ने महाप्रबंधक से सवाल किया है कि रिश्वत लेकर उम्मीदवारों को टेस्ट पास करवाया जाता रहा। उन्हें इसकी भनक क्यों नहीं लगी जबकि वे खुद निगरानी कमेटी के सदस्य है। विजिलेंस टीम ने इससे पहले भी अंदेशा जताया था कि अकेला चालक इतनी बड़ी से¨टग नहीं कर सकता है। जरूर इस मामले में बड़े अधिकारियों की संलिप्तता है। इसलिए फिलहाल महाप्रबंधक से सवाल किए गए हैं