News Description
सैनिक से कम नहीं है सफाईकर्मी : सुभाष चंद्र

रोहतक : स्वच्छ भारत मिशन के वाईस चेयरमैन सुभाष चंद्र ने कहा कि सरकार ने निर्णय लिया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में तैनात सफाई सैनिकों का वेतन हर माह की 7 तारीख को सीधे बैंक खाते में भेजा जाएगा ताकि उनके समक्ष किसी तरह की दिक्कत पेश न आए। वाईस चेयरमैन सोमवार को ग्रामीण विकास अभिकरण के सभागार में स्वच्छ भारत मिशन को लेकर आयोजित एक दिवसीय स्वच्छता प्रशिक्षण शिविर को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के 13 जिलों में इस तरह की कार्यशाला आयोजित करके सफाई प्रशिक्षण की आवश्यकता बारे अवगत करवाया जा चुका है। इन प्रशिक्षण शिविरों में स्वच्छ भारत मिशन के मुख्य सारथियों व सैनिकों की समस्याओं को जानकर उनका निदान संभव किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सीमा पर देश की रक्षा करने के लिए सैनिक तथा देश के अन्दर सफाई व्यवस्था बनाए रखने के लिए सफाई सैनिक पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य कर रहे हैं ताकि देश के नागरिकों को स्वच्छ एवं गंदगी मुक्त माहौल मिल सके। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मी सैनिक से कम नहीं हैं। सफाई सैनिक भी समर्पित और सेवाभाव से देश को स्वच्छ बनाने के लिए चलाए जा रहे अभियान में जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि यह अभियान सफाई सैनिकों के बिना अधूरा एवं पंगु है। यदि सफाई सैनिक समर्पित भावना से कार्य नहीं करेंगे तो देश के नागरिकों को स्वच्छ वातावरण सुलभ नहीं होगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों के सफाई सैनिकों को गणतंत्र दिवस एवं स्वतंत्रता दिवस जैसे राष्ट्रीय पर्व पर स्वच्छता के क्षेत्र में श्रेष्ठ कार्य करने पर सम्मानित करना चाहिए।

स्वच्छ भारत मिशन के वाईस चेयरमैन ने कहा कि देश में हरियाणा पहला राज्य है, जिसमें स्वच्छ भारत मिशन का गठन करके सफाई सैनिकों को आवश्यक सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि सफाई स्वच्छता से जुड़ा हुआ एक पहलू है। सफाई सैनिक इसे ईश्वरीय कार्य मानकर अपने भविष्य को सुखद बनाने की दिशा में लेकर कार्य कर रहे हैं। इसमें इनका आनन्दमय जीवन छिपा हुआ है। उन्होंने कहा कि यदि अधिकारी व समाज इन सफाई सैनिकों की तरफ थोड़ा हाथ बढ़ाते हैं तो ये सफाई सैनिक ओर अधिक कुशलता के साथ काम करेंगे।