# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
गैर कानूनी रूप से चल रहे भ्रूण ¨लग जांच का किया भंडाफोड़

रोहतक : रोहतक, सोनीपत और बिजनौर की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए कियाबिजनौर में गैर कानूनी रूप से चल रहे भ्रूण ¨लग जांच का भंडाफोड़  है। टीम ने मौके से दो दलाल और एक डाक्टर को रंगे हाथ दबोच लिया। पुलिस ने तीनों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

सीएमओ डा. दीपा जाखड़ ने बताया कि गुप्त सूचना के मुताबिक उन्हें पता चला था कि बिजनौर में बृज अल्ट्रासाउंड सेंटर पर गैर कानूनी रूप से भ्रूण ¨लग जांच का खेल चल रहा है। इसके बाद एक फर्जी ग्राहक तैयार किया गया। उसके माध्यम से खरखौदा, सोनीपत निवासी दलाल आशा पत्नी सुनील के साथ 26 हजार रुपये में सौदा तय किया गया। इसके बाद उन्होंने तीन जिलों रोहतक, सोनीपत और बिजनौर की स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम बनाई। दलाल ने योजना के मुताबिक ग्राहक को खरखौदा बुलाया और गाड़ी द्वारा उसे बिजनौर रेलवे स्टेशन पर ले गए, जहां उसे एक अन्य दलाल से मिलवाया गया। इसके बाद ऑटो में बैठाकर उसे बिजनौर शहर में स्थित बृज अल्ट्रासाउंड सेंटर पर ले जाया गया। जहां फर्जी ग्राहक से न ही आइडी ली गई और न ही फार्म भरवाया गया। सीधा गर्भवती महिला का अल्ट्रासाउंड कर दिया गया। पीछा कर रही संयुक्त टीम ने मौके पर पहुंचकर छापा मारा और दोनों दलाल व महिला डॉक्टर को धर दबोचा। डाक्टर के शैक्षिक कागजातों की जांच की गई, तो पता चला कि डाक्टर के पास कोई डिग्री भी नहीं है। बिना डिग्री के ही अल्ट्रासाउंड सेंटर का संचालन कर रही है। दलाल के पास फर्जी ग्राहक द्वारा दिए गए पैसे के रूप में 12 हजार रुपये भी बरामद किए गए, जिन्हें दी गई रकम से मिलाया गया, तो मैच हो गए। इसके बाद दलालों और फर्जी डाक्टर को पुलिस के हवाले कर दिया गया। पुलिस ने तीनों के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।