# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
बेसहारा पशुओं से तंग किसानों ने लघुसचिवालय पर दिया धरना

महम : स्थानीय लघुसचिवालय के गेट पर बेसहारा पशुओं से हो रही परेशानी को लेकर किसानों ने सोमवार को धरना प्रदर्शन कर पशु मेले खोलने व बेसहारा पशुओं का प्रबंध करने की मांग की। उसके बाद किसानों ने नायब तहसीलदार राजकुमार शर्मा को ज्ञापन सौंपकर उनको हो रही परेशानी से अवगत करते हुए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

प्रेम सिवाच की अध्यक्षता में दिए गए धरने को संबोधित करते हुए भारतीय किसान मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष इंद्र ¨सह ने कहा कि सरकार किसान मजदूर विरोधी कार्य कर रही है। सरकार गाय के नाम पर राजनीति कर रही है। जबकि गाय किसानों के खेतों में खड़ी फसल को खाकर भारी नुकसान कर रही हैं। उन्होंने सरकार से पशु मेले खोलने, किसानों को कर्जमुक्त करने के लिए कर्जा मुक्ति बोर्ड का गठन करने, फसल को लाभकारी मूल्य देने की मांग करते हुए कहा कि सरकार को शिक्षा, कृषि, रोजगार व स्वास्थ्य सेवाओं का बजट बढ़ाकर जनता को सुविधा देनी चाहिए।

मंच संचालन कर रहे बलवान ¨सह ने कहा कि अगर सरकार ने जल्दी ही बेसहारा पशुओं की समस्या का समाधान नहीं किया तो प्रदेश में एक बड़ा आंदोलन खड़ा होगा