# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
CM खट्टर का एलान, विवाह शगुन योजना में दिए जाएंगे 51 हजार रुपये

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा विवाह शगुन योजना में अब तक 41 हजार रुपये दिए जाते थे। अब इस योजना के तहत 51 हजार रुपये दिए जाएंगे। सीएम ने कहा हरियाणा में लिंग अनुपात को एक हजार तक ले जाने का लक्ष्य है। इसे 950 तक हर हालत में पहुंचाएंगे।
 सीएम मनोहर लाल सोमवार को गांव खांड़ाखेड़ी पहुंचे थे। यहां वित्तमंत्री कैप्टन अभियमन्यु के 51वें जन्मदिवस पर जरूरतमंद कन्याओं के सामूहिक समारोह में सीएम संबोधित कर रहे थे। सीएम ने कहा पहले हरियाणा लिंग अनुपात में काफी बदनाम रहा है। लिंग अनुपात कम होने के कारण यहां अपराध का ग्राफ अधिक था। प्रधानमंत्री मोदी ने हरियाणा की धरती से बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का आह्वान किया था।
सरकार के साथ ग्राम पंचायतों, विभिन्न संगठनों, एनजीओ और समाज के सहयोग से इस अभियान के अच्छे परिणाम मिले हैं। तीन साल पहले प्रदेश में 1000 बेटों के पीछे जहां लड़कियों की संख्या 835 थी। अभियान के चलते लड़कियों की जन्म दर 1000 लड़कों पर 930 हो गई है। इसे बढ़ाकर 950 तक ले जाना है। प्रधानमंत्री भी प्रदेश में इस अभियान की सफलता का जिक्र करते हैं, जो हमारे लिए गर्व की बात है। प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए सरकार ने सख्त कानून बनाए। इनके सार्थक परिणाम अब सामने आ रहे हैं।

सीएम ने कहा विवाह शगुन योजना के तहत 41 हजार रुपये दिए जाते थे, जिसे आज से बढ़ाकर 51 हजार रुपये किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस सामूहिक विवाह समारोह में शादी के बंधन में बंधे जोड़ों को भी इस घोषणा का लाभ मिलेगा।