# रक्षा मंत्रालय ने इजरायल के साथ रद्द की 500 मिलियन डॉलर की मिसाइल डील         # कालेधन पर भारत को जानकारी देंगे स्विस बैंक, पैनल की मंजूरी         # गुजरात चुनाव: कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, 77 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान         # दीपिका पादुकोण को जिंदा जलाने पर रखा 1 करोड़ का इनाम         # कश्मीर घाटी में लश्कर के शीर्ष नेतृत्व का सफाया: सेना         # आसमान छू रहे अंडों के दाम, चिकन के बराबर पहुंची कीमतें         # महाराष्ट्र: सड़क किनारे टॉयलेट करते पकड़े गए जल संरक्षण मंत्री राम शिंदे         # चीन में नए भारतीय राजदूत के रूप में आज कार्यभार ग्रहण करेंगे बंबावले         # ICJ चुनाव में भारत को रोकने के लिए ब्रिटेन ने चली गंदी चाल        
News Description
किसानों को सरकार द्वारा सौर उर्जा पर अनुदान की योजना

सौर उर्जा वर्तमान युग की महत्वपूर्ण आवश्यकता बन गई है। सौर उर्जा से जहां वातावरण शुद्ध रहता है,वहीं घटते उर्जा के प्राकृतिक स्रोतो को भी संरक्षण मिलता है। इसलिए हरियाणा सरकार ने किसानों के लिए सोलर पम्प लगाने पर 90 प्रतिशत तथा घरेलु उपभोक्ताओं को सौर उर्जा के उपकरण खरीदने पर 30 प्रतिशत का अनुदान देने की योजना लागू की है। 
यह जानकारी देते हुए अतिरिक्त उपायुक्त राजीव मेहता ने बताया कि इस योजना के तहत किसानों को 2 एचपी सरफेश पम्प से 12 मीटर तक की गहराई तक पानी खींचने के लिए सोलर पम्प पर 1.85 लाख रूपये की लागत आती है, जो लाभार्थी को 18 हजार 500 रूपये में दिया जाता है। इसी प्रकार 2 एचपी सबमर्सिबल पम्प से 30 मीटर तक की गहराई से पानी खींचा जा सकता है तथा पांच एचपी की क्षमता के पम्प से 70 मीटर तक की गहराई से पानी खींचा जा सकता है। इन पर क्रमश: 2.35 लाख और 4.38 लाख रूपये की लागत आती है। ये पम्प क्रमश: 23500 रूपये व 43800 रूपये में लाभार्थियों को दिए जाएंगे। 
इसी प्रकार यदि कोई व्यक्ति अपने मकान पर सोलर पैनल लगवाता है तो उसे विभाग की ओर से 5 किलोवाट तक उपकरण लगाने पर 30 प्रतिशत तक का अनुदान दिया जाता है और उसे बिजली के बिल पर भी छूट प्रदान की जाती है। इस योजना के तहत 500 वाट के पैनल, तार, कंट्रोलर व एंगल मात्र 18500 रूपये में दिए जाते हैं। इन सभी योजनाओं के लिए नवीन एवं नवीनीकरण उर्जा विभाग के मुख्य परियोजना अधिकारी एवं अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय के कमरा नम्बर 219, लघु सचिवालय पानीपत में किसी भी कार्य दिवस में आकर सम्पर्क किया जा सकता है।