News Description
किसानों को सरकार द्वारा सौर उर्जा पर अनुदान की योजना

सौर उर्जा वर्तमान युग की महत्वपूर्ण आवश्यकता बन गई है। सौर उर्जा से जहां वातावरण शुद्ध रहता है,वहीं घटते उर्जा के प्राकृतिक स्रोतो को भी संरक्षण मिलता है। इसलिए हरियाणा सरकार ने किसानों के लिए सोलर पम्प लगाने पर 90 प्रतिशत तथा घरेलु उपभोक्ताओं को सौर उर्जा के उपकरण खरीदने पर 30 प्रतिशत का अनुदान देने की योजना लागू की है। 
यह जानकारी देते हुए अतिरिक्त उपायुक्त राजीव मेहता ने बताया कि इस योजना के तहत किसानों को 2 एचपी सरफेश पम्प से 12 मीटर तक की गहराई तक पानी खींचने के लिए सोलर पम्प पर 1.85 लाख रूपये की लागत आती है, जो लाभार्थी को 18 हजार 500 रूपये में दिया जाता है। इसी प्रकार 2 एचपी सबमर्सिबल पम्प से 30 मीटर तक की गहराई से पानी खींचा जा सकता है तथा पांच एचपी की क्षमता के पम्प से 70 मीटर तक की गहराई से पानी खींचा जा सकता है। इन पर क्रमश: 2.35 लाख और 4.38 लाख रूपये की लागत आती है। ये पम्प क्रमश: 23500 रूपये व 43800 रूपये में लाभार्थियों को दिए जाएंगे। 
इसी प्रकार यदि कोई व्यक्ति अपने मकान पर सोलर पैनल लगवाता है तो उसे विभाग की ओर से 5 किलोवाट तक उपकरण लगाने पर 30 प्रतिशत तक का अनुदान दिया जाता है और उसे बिजली के बिल पर भी छूट प्रदान की जाती है। इस योजना के तहत 500 वाट के पैनल, तार, कंट्रोलर व एंगल मात्र 18500 रूपये में दिए जाते हैं। इन सभी योजनाओं के लिए नवीन एवं नवीनीकरण उर्जा विभाग के मुख्य परियोजना अधिकारी एवं अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय के कमरा नम्बर 219, लघु सचिवालय पानीपत में किसी भी कार्य दिवस में आकर सम्पर्क किया जा सकता है।