News Description
दिन में शहर की साफ सफाई पर गौर फरमा ले अधिकारी तो रात को यूं तंग न होना पड़ेगा

निगम कमिशनर ¨प्रयका सौनी रात के वक्त भी शहर की साफसफाई को लेकर राउंड लगा रही है। उन्हें दिखाने के लिए खूब साफ सफाई भी होती है। लेकिन सुबह शहर की तस्वीर कुछ अलहदा ही नजर आती है। स्थिति यह है कि शहर के पॉश इलाकों में भी गंदगी के ढेर लगे रहते हैं। शहरवासियों ने बताया कि यहां तो लंबे समय से सफाई वाला आया ही नहीं है। गंदगी ऐसी है कि यहां सांस लेना मुश्किल है। कई बार निगम के अधिकारियों को इस बारे में लिखित में दिया, इसके बाद भी गंदगी उठाने की दिशा में कुछ नहीं हो रहा है। शुक्रवार रात को कमिश्नर ने शहर में कई जगह दौरा कर शहर की साफ सफाई का जायजा लिया। रविवार की सुबह जागरण ने शहर की साफ सफाई का रियलिटी चैक किया। जागरण ने शहर के दस महत्वपूर्ण स्थल का जायजा लिया जिनकी साफ सफाई सीधे सीधे शहर की स्वच्छता से जुड़ी हुई है।

घंटाघर चौक, रामलीला ग्राउंड : यहां गंदगी इतनी है कि सांस लेना भी मुश्किल हो रहा है। शहर की आवाजाही के लिए यहां से रास्ता निकलता है। यहां जगह जगह गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। जिसे आज तक उठाया नहीं गया है।

जाट धर्मशाला सेक्टर 12: डै¨पग ग्राउंड बना पेरशानी का सबब। यहां साफ सफाई के बाद कुड़ा जमा किया जाता है। जिसे यहां से उठा कर बाद में शहर से बाहर ले जाया जाता है। लेकिन यहां से नियमित कचरा नहीं उठाया जा रहा है।

राम मंदिर कालोनी : यहां के अनिल कुमार और पवन कुमार ने बताया कि यहां उन्होंने एक पखवाड़े से सफाई कर्मचारी नहीं देखे हैं। कई बार इस बाबत निगम को शिकायत भी दी है। इसके बाद भी यहां कोई नहीं आया।

न्यायपूरी से यह कैसा इंसाफ : यह एरिया शहर का वीआईपी एरिया माना जाता है। इसके बाद भी निगम का ध्यान इस एरिया की साफ सफाई की ओर नहीं है। निवासी त्रिलोक ¨सह ने बताया कि यहां तो डस्टबिन तक नहीं है।

माल रोड, गंदगी से घूमना हुआ मुश्किल : इस रोड पर कई अधिकारियों के घर है। इसके साथ ही शहर की बड़ी आबादी भी यहां से गुजरती है। शाम के वक्त् यहां लोग घूमने भी आते हैं। इसके बाद भी यहां गंदगी जगह जगह पड़ी मिली।

प्रेम नगर, शांतिनगर, धक्का बस्ती, शिव कालोनी, हांसी रोड, रमेश नगर, ओल्ड रमेश नगर, राजीव कालोनी , स्टेशन रोड, बैंक कालोनी, चमन गार्डन, सदर बाजार, पूरानी अनाज मंडी, जुंडला गेट, मंगल कालोनी, चांद सराय में भी यहीं हाल है।