News Description
बेटियों को बचाने के लिए उठी आवाज बुजुर्ग और युवा कर रहे हवन यज्ञ

बेटीबचाओ-बेटी पढ़ाओ की अलख हवन यज्ञ के जरिए शहर की सबसे पुरानी संस्था वैदिक सत्संग मंडल कर रही है। बीते दो साल से संस्था से जुड़े सदस्य शहर ग्रामीण क्षेत्र की शिक्षण संस्थाओं में जाकर बेटी बचाने के लिए बेटियों से ही हवन यज्ञ कराकर बच्चों को संकल्प दिला रही है। 

सत्यार्थप्रकाश की 700 प्रतियां बांटी 

मंडलके अध्यक्ष रमेशचंद्र कौशिक, मंत्री जयभगवान शर्मा सुभाष आर्य के संयोजन में चल रह इस मंडल से क्षेत्र के बुजुर्ग युवा महिला-पुरुष भी जुड़कर बेटी बचाने का प्रचार कर रहे हैं। अब मंडल अपना 60वां बेटी बचाओ बेटी बचाओ हवन व्याख्यानमाला जहांगीपुर के न्यू रायल पब्लिक स्कूल मेंें करने जा रही है। ये सिलसिला 17-10-15 से चल रहा है। इस अभियान की शुरुआत शहर के प्रियदर्शिनी इंदिरा काॅलेज से हुई थी। महर्षि दयानंद द्वार लिखित सत्यार्थ प्रकाश की 700 प्रतियां भागवत गीता की 500 प्रतियां मुफ्त में वितरित की जा चुकी हैं। 

झज्जर. वैदिकसत्संग मंडल से जुड़े लोग हवन यज्ञ करते हुए। 

सेवानिवृत्त होने के बाद 

बनाया वैदिक सत्संग मंडल 

बिजलीनिगम में कार्यरत झज्जर के मोहल्ला कानूनगो निवासी रमेश चंद्र कौशिक सरकारी सेवा में रहते महज अवकाश होने पर ही आर्य समाज के भजनोपदेशक के रूप में प्रचारक रहे। हालांकि 31-5-2002 को अपने रिटायर्ड होने के पहले ही कौशिक ने 90 के दशक में वैदिक सत्संग मंडल का गठन कर लिया था। इसे अपने रिटायर्ड-मेंट के बाद और ज्यादा सक्रिय किया। इसका रजिस्ट्रेशन 2015 में कराया।