News Description
शादी में दहेज न लेकर केवल 1 रुपए का दान लेने वालों को सम्मानित करेगी काजला खाप

हिसार |काजला खाप की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक रविवार को संगरूर के गांव बंगा में हुई। खाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजमल काजल ने इसकी अध्यक्षता की। मुख्यातिथि खाप के राष्ट्रीय संरक्षक धर्मबीर काजला ने बताया कि बैठक में सामाजिक सरोकारों व किसानों सहित कई मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया। प्रस्ताव पारित किए गए। राष्ट्रीय प्रवक्ता जगदीश काजला ने बताया कि बैठक में युवाओं में बढ़ती हुई नशा प्रवृत्ति, दहेज प्रथा व मृत्यु भोज के प्रचलन पर चिंता व्यक्त करते हुए प्रस्ताव पारित किया गया कि काजला गोत्र का जो भी परिवार अपने लड़के की शादी में दहेज न लेकर केवल 1 रुपए दान का लेकर विवाह करेगा, उस परिवार को खाप की ओर से सम्मानित किया जाएगा। मृत्युभोज को एक सामाजिक बुराई बताते हुए गोत्र के लोगों से इसे तुरंत बंद करने की अपील की। निर्णय लिया कि खाप का कोई भी पदाधिकारी भविष्य में मृत्युभोज में भाग नहीं लेगा। बैठक में यह भी निर्णय हुआ कि यदि कोई पदाधिकारी मृत्युभोज में भाग लेगा तो उसे अपने पद से त्याग पत्र देना होगा।

हिंदू मैरिज एक्ट में परिवर्तन की मांग : काजला खाप ने देश व प्रदेश की सरकारों से मांग की है कि हिंदू मैरिज एक्ट 1955 में संशोधन करके गांव गुहांड व समगोत्र विवाह पर प्रतिबंध लगाया जाए, ताकि भाई-बहन का पवित्र रिश्ता बना रहे। खाप ने तर्क दिया कि समगोत्र विवाह न ही तो शास्त्र सम्मत है और न ही वैज्ञानिक दृष्टि से उचित है। खाप के राष्ट्रीय सम्मेलन को 4 मार्च को भिवानी में करने के निर्णय को दोहराया गया।