News Description
नाटक हरिश्चंद्र की लड़ाई ने दिखाया समाज को आईना

कुरुक्षेत्र :हरियाणा कला परिषद मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर तथा संस्कार भारती के संयुक्त तत्वावधान में चल रहे छह दिवसीय राष्ट्रीय नाट्य उत्सव के चौथे दिन नाटक हरिश्चंद्र की लड़ाई का मंचन हुआ। कार्यक्रम में कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के मानद सचिव अशोक सुखीजा बतौर मुख्यातिथि तथा नगराधीश कंवर ¨सह विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। दर्पण ग्रुप लखनऊ के कलाकारों द्वारा उर्मिल कुमार थपलियाल के निर्देशन में तैयार नाटक हरिश्चंद्र की लड़ाई में दिखाया कि एक व्यक्ति, जिसका नाम हरिया है वह अपने गांव में नौटंकी में काम करता है। पिछले कुछ समय से हरिश्चंद्र का किरदार निभाने के कारण उसे आमजीवन में भी सच कहने की आदत हो जाती है। रात के समय नौटंकी में काम करने के कारण सब उसके सच से प्रसन्न होते, लेकिन जैसे ही हरिया दिन में कोई सच बोलता तो गांव वासी उसे मारने को दौड़ पड़ते। इतना ही नहीं नेता, पुलिस तथा शिक्षक भी हरिया के सच बोलने से परेशान हो जाते। लोक शैली में तैयार नाटक को नौटंकी शैली में प्रस्तुत कर कलाकारों ने भरपूर तालियां बटोरी।

अशोक सुखीजा ने कहा कि प्रदेश की संस्कृति को विकसित करने से पूर्व लोक संस्कृति का संर्वधन बेहद आवश्यक है। लोक संस्कृति ही देश को महान बनाती है। जब तक लोक कलाओं का विस्तार नहीं होगा तब तक युवा पीढ़ी को संस्कारवान बनने में देरी होती रहेगी। नाटक के अंत में मुख्यातिथि अशोक सुखीजा ने नाटक निर्देशक उर्मिल कुमार थपलियाल को श्रीफल व स्मृति चिह्न भेंट किया।

मैक में नाटक सम्राट अशोक का मंचन आज

मैक की भरतमुनि रंगशाला में हरियाणा कला परिषद और संस्कार भारती के सहयोग से चल रहे छह दिवसीय राष्ट्रीय नाट्य उत्सव के समापन अवसर पर 16 दिसंबर को गोरखपुर के कलाकारों द्वारा नाटक सम्राट अशोक का मंचन किया जाएगा। हरियाणा कला परिषद के उपाध्यक्ष सुदेश शर्मा ने बताया कि इस मौके पर राज्यपाल प्रो. कप्तान ¨सह सोलंकी मुख्यातिथि होंगे।