News Description
कमलकांत को मिली जिला एवं सत्र न्यायधीश की जिम्मेदारी

पानीपत में डिस्ट्रिक एंड सेशन जज, एज प्रिसाइडिंग ऑफिसर इंडस्ट्रीयल ट्रिब्यूनल सम लेबर कोर्ट के पद पर रहे कमलकांत को हाईकोर्ट ने झज्जर में जिला एवं सत्र न्यायधीश की जिम्मेदारी दी है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश के रूप में नवंबर माह में कृष्ण कुमार के सेवानिवृत से यह पद खाली था। जिला बार एसोसिएशन में जिला एवं सत्र न्यायाधीश के रूप में करीब आधा दर्जन जजों के नामों पर चर्चा चल रही थी, लेकिन आखिरकार कमलकांत को जिम्मेदारी मिली है। कार्यभार संभालने के बाद उन्होंने शुक्रवार को बहादुरगढ़ स्थित नवनिर्मित न्यायिक परिसर तथा बार चैंबर्स का निरीक्षण किया। झज्जर में बार के वकीलों को संबोधित कर पीड़ितों को जल्द न्याय दिलाने का आह्वान किया। 

जिला बार में पहुंचने पर प्रधान देवेंद्र कादियान पदाधिकारियों ने स्वागत किया यहां आयोजित कार्यक्रम में बार की ओर से सीनियर वकील राजपाल शर्मा ने उनको बुक्के देकर सम्मानित किया। बार को संबोधित करते हुए जिला एवं सत्र न्यायधीश कमलकांत ने कहा बार बैंच के बीच बेहतर रिश्ते रहे हैं, दोनों को मिलकर लोगों को न्याय दिलाने की दिशा में आगे बढ़ना चाहिए। साथ ही उन्होंने पुस्तकालय वकीलों की दूसरी समस्याओं को हल करने में हमेशा सहयोगी होने की बात कहीं। इस मौके पर एडीजे एचएस दहिया, एडीजे लाल चंद, एडीजे महेश कुमार, राजेश यादव सहित दूसरे सीनियर जज भी मौजूद रहे। बार की ओर से उपप्रधान माया देवी, प्रवीन डबास, सुनील उम्रानिया, पूर्व प्रधान यशपाल सैनी, विकास यादव, सुखबीर कादियान, राजेश सिन्हा, संजय जाखड़, जितेंद्र खत्री सहित कई सीनियर जूनियर वकील मौजूद रहे। जिला झज्जर बार एसोसिएशन के प्रधान देंवेद्र कादियान ने बताया कि डीजे कमल कांत मृदु भाषी है। उससे पहले वे पानीपत में डिस्ट्रिक एंड सेशन जज एज प्रिसाइडिंग ऑफिसर इंडस्ट्रीयल ट्रिब्यूनल सम लेबर कोर्ट के जज रहे। रोहतक में एडीजे हिसार में डीजे रहे। डीजे की कोर्ट में विजिलेंस संबंधी कई अहम मामले भी है। इनमें से दो मामलों में विजिलेंस ने ही क्लोजर रिपोर्ट दी हुई है। विजिलेंस की दो तरफा कार्रवाई के बारे में समाजसेवी रामकुमार की ओर से सीएम विंडो में भी शिकायत की हुई है। जिला एवं सत्र न्यायधीश के पद संभालने के बाद इन मामलों में ट्रायल संबंधी अहम फैसले जल्द सकते हैं। कई मामलों में सुनवाई लगभग अंतिम चरण में हैं।