News Description
तीन राज्यों को जोड़ने वाली सड़क निर्माण का रास्ता साफ

नूंह : हरियाणा,राजस्थान व उत्तर प्रदेश को जोड़ने वाली नगीना-तिजारा सड़क निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। इस सड़क के निर्माण के लिए सड़क एवं लोक निर्माण विभाग ने टेंडर आमंत्रित किया है। करीब साढ़े चार करोड़ की लागत से सड़क का निर्माण होगा। उम्मीद है जल्द ही इस पर काम शुरू होगा और लोगों की दशकों पुरानी मांग पूरी होगी। इसके लिए लोगों ने सरकार का आभार प्रकट किया है।

स्पष्ट कर दें, नूंह जिले के अलावा राजस्थान के तिजारा व आसपास के इलाके व यूपी के कोसी-मथुरा से सटे लोगों की काफी पुरानी मांग है। बार-बार उठने के बाद

1 जून 2011 को मांडीखेड़ा में आई यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी की सभा में तत्कालीन सीएम भूपेंद्र हुड्डा ने नगीना-तिजारा रोड बनाने की मांग को स्वीकृत करने की घोषणा की। इसके बाद सर्वे हुआ। सर्वे से प्राप्त डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट को लोकनिर्माण विभाग नूंह द्वारा अपने मेमो नं 2238 ए-दिनांक 3 दिसंबर 2012 के तहत रेवाड़ी सर्कल के अधीक्षण अभियंता की पैरवी के साथ चंडीगढ़ मुख्यालय के आला अधिकारियों को अंतिम स्वीकृति के लिए भेजा गया था। पर वहां से यह कहते हुए योजना रद्द कर दी गई कि अरावली पहाड़ में राजस्थान सरकार अपनी सीमा में सड़क निर्माण की इच्छुक नहीं, इसलिए अधूरी सड़क बनाने पर हरियाणा सरकार की बड़ी धनराशि की बर्बादी होगी । भाजपा सरकार बनने पर लोगों ने फिर इस मांग को जोरशोर से उठाया तो नूंह दौरे पर आए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इसे पूरा करने की घोषणा कर दी।

सड़क लोक निर्माण मंत्री राव नरवीर भी इस सड़क को लेकर गंभीर हैं। इस बारे में राजस्थान सरकार से भी प्रशासनिक व राजनीतिक स्तर पर बात की गई। राजस्थान सरकार भी अपने हिस्से की सड़क बनाने को राजी हो गई। इस पर हरियाणा सरकार ने कार्रवाई पूरी कर ली है। अब इसका टेंडर भी छोड़ दिया गया है