News Description
हार्ट अटैक के बाद पलवल, कुरुक्षेत्र से आए मरीजों को डाले स्टंट

अंबाला छावनी के नागरिक अस्पताल में सात करोड़ रुपये की लागत से तैयार की गई कैथ लैब में शुक्रवार से हृदय के मरीजों का इलाज शुरू कर दिया गया है। पहले दिन अलग-अलग जिलों से आए चार मरीजों को स्टंट डाले गए। पहले जहां विभिन्न जिलों से स्टंट डलवाने के लिए मरीजों को निजी अस्पताल, चंडीगढ़ या रोहतक पीजीआइ रेफर किया जाता था वहीं अब हार्ट अटैक या हृदय रोग के मरीजों को अंबाला छावनी नागरिक अस्पताल में रेफर किया जा रहा है। वहीं अन्य कई ऐसे मरीज भी है जिनकी एंजियो प्लास्टी सर्जरी शनिवार को की जाएगी। कुछ मरीजों को टेस्ट करवाने के बाद एक-दो दिन बाद ही तारीख सर्जरी के लिए दी जा रही है।

गौरतलब है कि छावनी के नागरिक अस्पताल में इस लैब को केरला की मेडिट्रिना कंपनी के साथ मिलकर प्राइवेट-पब्लिक-पार्टनरशिप (पीपीपी) पर करीब सात करोड़ रुपये की लागत से शुरू किया गया है। यहां दिमाग के स्ट्रोक से बचाने की एंजियोप्लास्टी के अलावा हृदय रोग के मरीजों को करीब 40 तरह की सुविधाएं शुरू की गई है। बीते सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कैथ लैब का शुभारंभ किया था। लेकिन अभी तक मरीजों की सर्जरी शुरू नहीं की गई थी। महज मरीजों को चेकअप किया जा रहा था। यहां लैब में पीजीआइ चंडीगढ़ से भी आधी कीमत और निजी अस्पतालों से एक चौथाई कीमत पर स्टंट डाले जा रहे है। बीपीएल, गरीब परिवार, अनुसूचित जाति और अरोग्य कोष कार्ड धारकों के लिए यह सुविधा बिलकुल निश्शुल्क है।

रेफर होकर आए इन मरीजों की हुई सर्जरी

पलवल जिले के जेराली गांव निवासी हरारूंद को शुक्रवार देर शाम हार्ट अटैक आया था। जिस परिजन वहां पहले निजी अस्पताल में लेकर गए थे जहां उसकी सर्जरी और इलाज का खर्च करीब दो से ढाई लाख रुपये बताया गया था। इसके बाद परिजनों ने उसे पलवल नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया जहां से उसे अंबाला छावनी नागरिक अस्पताल में रेफर किया गया था। शुक्रवार सुबह उसकी एंजियोप्लास्टी सर्जरी करके एक स्टंट डाला गया। इसका कुल खर्च करीब 46 हजार रुपये आया जो कि निजी अस्पताल से करीब एक लाख रुपये कम है। इसी तरह कुरुक्षेत्र से राजबाला और यमुनानगर से रोशन लाल को भी हार्ट अटैक के कारण अंबाला कैथ लैब अस्पताल में रेफर किया गया था। इन मरीजों को 46 हजार की कीमत में एक-एक स्टंट डाला गया जिसकी निजी अस्पताल या पीजीआइ में कीमत एक से डेढ़ लाख रुपये के बीच में है।

97 हजार में की गई सर्जरी

छावनी के बब्याल निवासी राकेश कुमार ने बुधवार को डॉक्टर के पास अपना चेकअप करवाया था। इसके बाद उनके टेस्ट करवाए गए थे जिसमें उनकी नाड़ियों में काफी अधिक ब्लॉकेज थी। राकेश की शुक्रवार को एंजियोप्लास्टी सर्जरी की गई। सर्जरी में उसे तीन स्टंट डाले गए क्योंकि नाड़ियों में ब्लॉकेज अधिक थी। वहीं टोबा गांव निवासी पवन कुमार की शनिवार को सर्जरी की जाएगी।